राजस्थान में जनता के लिए बीजेपी- कांग्रेस ने खोला वादों का पिटारा, जानें कौन है भारी

  • Updated on 12/7/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजस्थान की सत्ता के लिए सियासी संग्राम आज मतदान के बाद खत्म हो जाएगा। दोनों ही पार्टियों ने अपने घोषणा पत्र में वादों की झड़ी लगा दी है। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि चुनाव से पहले पार्टियों ने लोकलुभावने वादे किए हों। इससे पहले भी राजनीतिक पार्टियां वोट के लिए तमाम ऐसे वादे करती रही हैं जिनके पूरे होने पर शायद उन्हें खुद भी शक हो। इस बार भी शुरुआत वैसी ही हुई है लेकिन अंजाम चुनाव के बाद ही पता चलेगा। इन सब के बीच एक बात तो साफ है कि चुनाव के दौरान जनता से किए गए बड़े-बड़े वादे पूरे नहीं हो पाते हैं।

राजस्थान के रण में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों ही सीधे तौर पर मुकाबले में हैं। किसी अन्य पार्टी को वहां ज्यादा अहमियत नहीं दी जाती है। लिहाजा दोनों की ओर से किए गए वादों और बयानों का राजनीतिक, समाजिक, और आर्थिक मायनों में काफी महत्व है। अगर हम पिछले 10 साल की बात करें तो दोनों ही पार्टियां 1-1 बार सत्ता के सिंहासन पर काबिज हो चुकी हैं। हालांकि इसके बावजूद भी राजस्थान की ना सूरत बदली है और ना ही सीरत।  
 
चलिए तो हम एक नजर डालते हैं दोनों ही पार्टियों के चुनावी घोषणा पत्र पर 

कांग्रेस का चुनावी घोषणा पत्र

कांग्रेस पार्टी ने अपने घोषणा पत्र में सबसे बड़ा ऐलान करते हुए कहा है कि अगर वह सत्ता में आते हैं तो सबसे पहले किसानों का कर्ज माफ करेंगे।  इसके अलावा भी ये सब वादे किए गए हैं।

  • सत्ता में आने पर बुजुर्ग किसानों को पेंशन देगी 
  • बेरोजगार युवाओं को 3500 रुपये तक का मासिक भत्ता 
  • बच्चियों की शिक्षा पूरी तरह नि:शुल्क कराई जाएगी
  •  मजदूरों का पलायन रोकने के लिए बोर्ड बनाया जाएगा
  •  हर जिले में महिलाओं के लिए आईटीआई कॉलेज खोले जाएंगे
  • बेरोजगारों को साढ़े तीन हजार रुपए मासिक भत्ता दिया जाएगा।
  •  गौजर भूमि का भी प्रस्ताव लाने का किया वादा
  •  कृषि उपकरणों को जीएसटी से बाहर रखा जाएगा। 
  • - कृषि उपकरणों को जीएसटी से बाहर रखा जाएगा। 

बीजेपी का घोषणा पत्र...

बीजेपी ने अपने घोषणा पत्र में कई बड़े वादे कर दिए हैं जिसमें बेरोजगारी, किसान, स्टूडेंट्स, हाइवे आदि के बारे में बड़े ऐलान किए गए।  यदि बीजेपी राजस्थान की सत्ता में वापस आई तो युवा बेरोजगारों को 5000 रुपये भत्ता देगी। इसके अलावा भी कई प्रकार के बड़े वादे किए गए।  

  • फसलों की एमएसपी पर खरीद को अधिक पारदर्शी एवं मजबूत बनाएगी 
  • सरकारी स्कूलों से सरकारी कॉलेजों में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप या स्मार्टफोन देगी।
  • अगले पांच साल में कुल मिलाकर डेढ़ लाख सरकारी नौकरियां देने का वादा किया है।
  • अरब सागर का पानी राज्य के सांचौर एवं जालौर जिले तक लाकर इनलैंड पोर्ट बनाने की घोषणा की है।
  • उसकी योजना सभी जिलों को आपस में जोड़ने के लिए चार लेन वाला राजस्थान माला हाइवे बनाने की है।
  • वह बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुसलमानों की पहचान कर उन्हें देश से बाहर करेगी 
  • पाकिस्तान से विस्थापित बचे हुए हिंदुओं को नागरिकता देने की कार्रवाई करेगी। 
  • हर विधानसभा क्षेत्र में एक महाविद्यालय खोला जाएगा।
  • किसानों की आय दोगुनी करने के लिए 250 करोड़ रुपये के कोष से ग्रामीण स्टार्ट अप फंड स्थापित किया जाएगा।
  • पांच साल में एक लाख करोड़ रुपये के सहकारी कर्ज दिए जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.