Thursday, Aug 18, 2022
-->
bjp-attacks-congress-on-reports-of-military-coup-during-upa-2

सैन्य तख्तापलट की खबरों पर BJP ने कांग्रेस पर बोला हमला, दागे सवाल

  • Updated on 2/6/2019

नई दिल्ली/ब्यूरो। भारतीय जनता पार्टी ने यूपीए-2 सरकार के कार्यकाल के दौरान 2012 में सैन्य तख्तापलट की उड़ी खबरों को लेकर कांग्रेस पार्टी पर हमला बोला है। एक अखबार की रिपोर्ट के हवाले देते हुए भाजपा ले कहा कि सेना के खिलाफ तख्तापलट की गलत खबर छपवाकर उसे बदनाम किया गया। इस साजिश में मनमोहन सरकार के चार मंत्री शामिल थे। यह देश से गद्दारी थी। 

टीवी पत्रकार सौम्या हत्याकांड : पिता ने केजरीवाल से लगाई न्याय की गुहार

भाजपा ने इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जवाब मांगने के साथ ही संसदीय कमिटी से इस मामले की जांच की मांग की है। राज्यसभा सांसद एवं भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए आरोप लगाया कि कांग्रेस पार्टी के शासनकाल में न केवल भ्रष्टाचार हुआ, बल्कि राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खिलवाड़ भी किया गया। यूपीए-2 के शासनकाल में भारतीय सेना के खिलाफ साजिश रची गई थी। 

ममता बनर्जी ने रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ पर मोदी सरकार पर साधा निशाना

बता दें कि जनवरी 2012 में एक न्यूजपेपर में सेना द्वारा कथित तख्तापलट की खबर प्रकाशित हुई थी। इस खबर के बाद देशभर में काफी बवाल मचा था।  बता दें कि एक अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, सेना की कथित तख्तापलट की खबरों पर तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आईबी के अधिकारियों को बुलाकर इस खबर के बारे में जानकारी मांगी थी। 

गुर्जर आरक्षण पर सचिन पायलट ने मोदी सरकार के पाले में डाली गेंद

आईबी के अधिकारियों ने तत्कालीन पीएम को बताया कि ऐसा कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है। इस मामले में शामिल रहे एक अधिकारी ने अखबार को बताया कि आईबी ने साफ किया कि तख्तापलट की कोई कोशिश नहीं हो रही है। कहीं भी कोई आर्मी चीफ बिना टॉप अधिकारियों के समर्थन के बिना तख्तापलट की नहीं सोच सकता है। 

गांधी के पुतले को गोली मारने वाली पूजा पांडेय को नहीं है जरा भी अफसोस

नरसिम्हा राव ने कहा कि कांग्रेस ने तख्तापलट की साजिश की खबरें प्लांट करवाई। भारत की सेना को जलील करने का षडयंत्र रचा गया। आईबी ने मनमोहन सिंह को बताया कि यह कोरी कल्पना है। सांसद नरसिम्हा राव ने कहा कि वह रक्षा मामलों की संसदीय कमिटी के सदस्य भी हैं और उन्होंने इस मामले में कमिटी के अध्यक्ष कलराज मिश्रा से इसकी तुरंत बैठक बुलाने की मांग की है। 

प्रशांत भूषण को अटार्नी जनरल की अवमानना याचिका पर SC का नोटिस

उन्होंने कहा कि मैंने स्टैंडिंग कमेटी के अध्यक्ष से इसकी बैठक बुलाने की मांग की है। ताकि जांच की जा सके कि इस तरह की खबरों में कौन शामिल था, उसका मकसद क्या था। सेना के अधिकारियों को इस जांच में शामिल कर मकसद का पर्दाफाश करवाया जाए। बता दें कि मार्च 2010 से मई 2012 तक जनरल वीके सिंह भारतीय सेना के चीफ थे। सिंह पर ही मनमोहन सिंह सरकार के खिलाफ तख्तापलट करने की कोशिश का आरोप लगा था।

अन्ना के अनशन के बाद लोकपाल को लेकर सक्रिय हुई मोदी सरकार

भाजपा ने कांग्रेस से पूछे चार सवाल
 इस मामले में भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस से चार सवाल पूछे हैं। इसमें तख्तापलट की गलत स्टोरी के पीछे का मकसद क्या था? कौन इस तरह की अफवाह फैला रहा था, कौन-कौन मंत्री इसमें शामिल थे? कहीं इस तरह की खबरों के पीछे गांधी परिवार खास तौर पर राहुल गांधी का हाथ तो नहीं था? क्या भारतीय सेना को बदनाम करने के लिए आईएसआई या पाकिस्तानी आर्मी ने तो ऐसा नहीं किया? क्या किसी के कहने पर भारत की सेना को पाकिस्तान ने बदनाम तो नहीं किया? 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.