Sunday, Aug 14, 2022
-->
bjp-demands-cm-kejriwal-s-resignation-in-pollution-case

प्रदूषण मामले में भाजपा ने सीएम केजरीवाल के इस्तीफे की मांग की

  • Updated on 12/2/2021

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। प्रदूषण के मसले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिल्ली सरकार को दिये गए निर्देश के बाद भाजपा ने इस मुद्दे पर आप सरकार को घेरने की कोशिशें आरंभ कर दी हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता, नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी, वरिष्ठ प्रवक्ता हरीश खुराना, प्रवीण शंकर कपूर और राष्ट्रीय भाजपा के युवा मोर्चा मंत्री तेजिंदर सिंह बग्गा ने एक स्वर में इस मामले में सीएम अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे की मांग की है। भाजपा नेताओं ने कहा कि अब सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली को प्रदूषण युक्त बनाने के लिए दिल्ली सरकार को फटकार लगाई है। आदेश गुप्ता और रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि यदि सीएम अरविंद केजरीवाल में थोड़ी भी नैतिकता बची है तो तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए। 

भाजपा नेताओं ने कहा कोर्ट ने भी दिल्ली सरकार को नाकाम बताया
गुप्ता ने कहा कि कोर्ट ने कहा है कि अगर आप सरकार 24 घंटे के अंदर कोई ठोस कदम नहीं उठाते हैं तो कोर्ट खुद इस पर विचार करेगी कि क्या करना होगा। उन्होंने कोर्ट के इस टिप्पणी पर उम्मीद जताई कि अब दिल्ली को प्रदूषण मुक्त वातावरण मिलेगा, इसका हमें भरोसा है। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने केजरीवाल सरकार से सवाल किया है कि छोटे-छोटे बच्चे स्कूल जा रहे हैं। माता-पिता घर से काम करें और बच्चे स्कूल जाएं, यह किस तरह की नीति है? 

केंद्र सरकार के विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए होगी संयुक्त परीक्षा : जितेंद्र सिंह
रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली सरकार हर मोर्चे पर फेल साबित हुई है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद अब नैतिकता के आधार पर सीएम केजरीवाल इस्तीफा दें। बिधूड़ी ने कहा कि केजरीवाल सरकार की नीयत काम करने की नहीं है और वह सिर्फ घोषणाओं और दावों से ही लोगों को बरगलाने की कोशिश करती रहती है। सुप्रीम कोटज़् ने जब 24 घंटे में प्रदूषण पर काबू पाने के लिए कदम उठाने की बात की तो दिल्ली सरकार ने दिल्ली के पब्लिक ट्रांसपोर्ट में सुधार, सड़कों की मरम्मत, नए फ्लाईओवरों की योजना या ऐसे ही और कदमों की चिंता नहीं दिखाई बल्कि सिर्फ स्कूल बंद करने का फैसला करके अपने काम को पूरा मान लिया।

ममता बनर्जी के कड़े तेवर के बाद प्रशांत किशाोर ने कांग्रेस नेतृत्व पर उठाए सवाल

बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली की एयर क्वालिटी 330 थी तो स्कूल बंद कर दिए गए थे लेकिन जब एयर क्वालिटी 400 के पार पहुंची तो स्कूल खोल दिए गए। हैरानी की बात यह है कि सुप्रीम कोर्ट को यहां तक कहना पड़ा कि कि निगरानी के लिए हम किसी और को नियुक्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज तक किसी भी सरकार की ऐसी फजीहत नहीं हुई होगी। उन्होंने कहा कि ये हालात दिल्ली सरकार की गलत नीतियों के कारण ही पैदा हुए हैं।
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.