Tuesday, Oct 19, 2021
-->
bjp-demands-cm-to-release-salary-fund-of-contract-teachers-of-corporation

निगम के कांट्रेक्ट अध्यापकों के वेतन फंड जारी करने के लिए भाजपा ने सीएम से की मांग 

  • Updated on 9/16/2021

नई दिल्ली / टीम डिजिटल। नगर निगम की खस्ताहाल का दावा करते हुए भाजपा ने सीएम अरविंद केजरीवाल से निगम के कांट्रेक्ट अध्यापकों का वेतन फंड जारी करने की मांग की है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने इस मामले में केजरीवाल से उचित हस्तक्षेप कर दिल्ली सरकार के वित्त विभाग से यह फंड जल्द जारी कराने की मांग रखी है।

गुप्ता ने कहा कि दिल्ली सरकार शिक्षा व्यवस्था में सुधार के बड़े-बड़े दावे करती है पर सच यह है कि न तो स्कूलों में शिक्षा का मूलभूत ढांचा सुधार पा रही है और न सरकारी स्कूलों में अध्यापकों की आवश्यक पूर्ति कर पा रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार नगर निगमों को अपने स्कूलों में पूरे अध्यापक भी नहीं रखने दे रही है।

विवादः केरल के चर्च डायोसी ने स्कूली छात्राओं को लव जिहाद से बचाने को लिखी किताब

उन्होंने कहा कि सरकार स्कूल अध्यापकों से कोरोना काल तक में आन लाईन क्लासों में पढ़ाने के साथ ही कोरोना राहत बंटवाने का काम भी करवाती रही है। उन्होंने कहा कि लेकिन दिल्ली सरकार ना अपने स्कूलों के हजारों गेस्ट टीचर्स को काम एवं वेतन दे रही है और न ही उत्तरी दिल्ली नगर निगम को उसके 667 कांट्रेक्ट अध्यापकों का वेतन फंड मई 2020 से दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि नतीजतन निगम स्कूलों में इस वर्ष हुई नई छात्र भर्ती के बाद अध्यापक-छात्र अनुपात 1 : 45 से अधिक हो गया है जो अनुचित है। जबकि मई 2020 से पहले जब तक कांट्रेक्ट अध्यापक काम कर रहे थे तब निगम स्कूलों का अध्यापक-छात्र अनुपात 1 : 40 था जो एक आदर्श अनुपात था पर दिल्ली सरकार द्वारा उनका वेतन फंड रोक देने से स्थिती खराब हो गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.