Monday, Oct 25, 2021
-->
BJP expelled 3 corporation councilors from the party for 6 years

भाजपा ने 3 निगम पार्षदों को पार्टी से 6 साल के लिए बाहर किया

  • Updated on 9/19/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भाजपा ने एक बार फिर से पार्षदों को पार्टी से निष्कासित कर निगम चुनाव से पहले पार्टी की छवि को लेकर जनता में संदेश देने का प्रयास किया है। माना जा रहा है कि जल्द ही कुछ और पार्षदों पर भी ये गाज गिर सकती है। रविवार को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने तीन पार्षदों को 6 वर्ष के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया। इसमें पूर्वी दिल्ली निगम के न्यू अशोक नगर की रजनी बबलू पांडेय, दक्षिणी दिल्ली सैदउलाजाब से निगम पार्षद संजय ठाकुर और मुखर्जी नगर उत्तरी दिल्ली निगम की पूजा मदान शामिल हैं। 

भ्रष्ट आचरण का लगाया आरोप पार्षदों पर 

आदेश गुप्ता की तरफ से जारी निष्कासन पत्र में तीनों पार्षदों पर भ्रष्ट आचरण और कार्यकर्ताओं के अनदेखी का आरोप लगाया है। गुप्ता ने कहा कि पार्टी किसी भी तरह का भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं करेगी। गुप्ता ने कहा कि पार्षदों का निष्काषन खेद का विषय है लेकिन पार्टी शिकायतों की अनदेखी नहीं कर सकती और इस तरह की  कार्रवाई आगे भी जारी रख सकती है। 

यूपी में भाजपा सरकार के साढ़े चार :  सीएम योगी पर बरसे AAP सांसद संजय सिंह

गुप्ता ने कहा कि पार्षदों को उनकी गतिविधि और शिकायतों के बारे में पहले भी सुधार के लिए कहा था,  लेकिन चेतावनी के बाद भी उनके व्यवहार में कोई सुधार नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि अब सब सीमा पार कर इन पार्षदों की भ्रष्टाचार में लिप्त होने की बात सामने आने के बाद  निष्कासन की कार्रवाई की गई है।

भाजपा जीरो टॉलरेंस नीति पर काम कर रही 

आदेश गुप्ता ने दावा किया कि दिल्ली भाजपा जीरो टॉलरेंस नीति पर काम कर रही है। भ्रष्टाचार के कोई भी मामले बर्दाश्त नहीं किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि पार्षदों को ईमानदारी के साथ जन सेवा करनी है। इसमें किसी भी तरह की कोताही और भ्रष्टाचार के मामले सामने आए तो  सख़्ती से कार्रवाई होगी।

पंजाब सियासी संकट का असर : राजस्थान CM गहलोत के OSD का इस्तीफा

गौरतलब है कि हाल में एक पार्षद ने एमसीडी, प्रदेश अध्यक्ष और संगठन महामंत्री पर भी भेदभाव और कई अन्य तरह के आरोप लगाते हुए शीर्ष नेतृत्व को शिकायत की थी, जिसके बाद पार्षद को हटा दिया गया था। 

 

comments

.
.
.
.
.