Saturday, May 26, 2018

कर्नाटक में भाजपा को मौका, कल सुबह येदियुरप्पा लेंगे शपथ, कांग्रेस-JDS हैरान

  • Updated on 5/16/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्नाटक में भाजपा को सरकार बनाने का मौका मिल गया है। भाजपा विधायक दल के नेता बीएस येदियुरप्पा कल सुबह सीएम पद की शपथ लेंगे। इसके साथ ही बहुमत सिद्ध करने के लिए भाजपा को 15 दिनों का समय दिया गया है। 

CPIM बोली- कर्नाटक में हॉर्स ट्रेडिंग के लिए हो रहा है राज्यपाल पद का दुरुपयोग

खास बात यह है कि सरकार बनाने का दावा खुद भाजपा विधायक सुरेश कुमार ने किया था। बाद में इसकी पुष्टि राज्यपाल की ओर से की गई है। इस खबर के साथ कांग्रेस और जनता दल सेक्युलर में खलबली मच गई है। 

चेतन भगत ने कर्नाटक हॉर्स ट्रेडिंग को बताया आर्ट, लोगों ने की जमकर खिंचाई

इसके साथ ही कर्नाटक में सियासी पारा गर्म हो गया है। प्रदेश भाजपा कार्यालय में हलचल तेज हो गई है। भाजपा नेता जेपी नड्डा भी बेंगलुरु में पार्टी दफ्तर पहुंच गए हैं। साफ है कि कल सुबह भाजपा के लिए कुछ खास होने जा रहा है। 

भाजपा से लोहा लेने को लोकतांत्रिक जनता दल का होगा गठन, शरद यादव होंगे संरक्षक

सुनने में आ रहा है कि शपथ ग्रहण समारोह बेहद सादा होगा और इसमें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिरकत नहीं करेंगे। अभी यह भी साफ नहीं हो पाया है कि आखिर बहुमत के लिए भाजपा ने आंकड़े कहां से जुटाए हैं। 

कर्नाटक भाजपा नेता ने हटाया ट्वीट

कर्नाटक भाजपा के वरिष्ठ नेता और पार्टी के प्रवक्ता सुरेश कुमार ने आज एक ट्वीट में दावा किया कि भाजपा के विधायक दल के नेता बीएस येदियुरप्पा कल मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। हालांकि उन्होंने बाद में यह ट्वीट हटा दिया। 

कुमार ने रात आठ बजे कन्नड़ में एक ट्वीट किया, 'बी एस येदियुरप्पा कल सुबह साढ़े 9  बजे राजभवन में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। खुशी के इस अवसर पर हम सभी लोग एकत्र हों।' हालांकि एक घंटे के अंदर ही यह ट्वीट हटा लिया गया।

प्रकाश जावड़ेकर दिखे बेहद खुश

कर्नाटक में भाजपा प्रभारी प्रकाश जावड़ेकर इस खबर से बेहद उत्साहित नजर आए। मीडिया से उन्होंने ज्यादा बात तो नहीं की, लेकिन इतना कहा कि उन्हें पत्र मिला है, पहले इसे पढ़ने दें।

शपथ ग्रहण स्थल की सुरक्षा बढ़ाई

इस बीच शपद ग्रहण समारोह स्थल और राज्यपाल के आवास की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। संभावना है कि कांग्रेस और जेडीएस के कार्यकर्ता शपथग्रहण समारोह में बाधा डाल सकते हैं।  

सबसे बड़ी पार्टी को आधार माना

राज्यपाल ने भाजपा को न्योता देने का आधार सबसे बड़ी पार्टी को माना है। इसके अलावा कानूनी विशेषज्ञों की राय पर गौर करने के बाद ही राज्यपाल ने यह अहम फैसला लिया। इसमें अटॉर्नी जनरल की राय भी शामिल है। 

हेगड़े बोले- कर्नाटक में हॉर्स ट्रेडिंग रोकने के लिए फौरन सदन बुलाएं राज्यपाल

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.