Wednesday, Jan 19, 2022
-->

जय शाह प्रकरण को लेकर यशवंत सिंहा ने कहा, BJP ने खो दी अपनी नैतिकता

  • Updated on 10/11/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने पार्टी प्रमुख अमित शाह के बेटे का बचाव करने के लिए आज अपनी पार्टी की आलोचना करते हुए कहा कि ऐसा लगता है कि इसने इतने वर्षों में अर्जित अपने उच्च नैतिक आधार को खो दिया। मोदी सरकार की वित्तीय नीतियों के कट्टर आलोचक पूर्व वित्त मंत्री ने ‘द वायर’ के खिलाफ सौ करोड़ रुपये की मानहानि याचिका पर भी आपत्ति जताई जिसमें जय शाह के व्यवसाय पर एक आलेख प्रकाशित हुआ है।

‘द वायर’ के खिलाफ जय शाह के मामले की सुनवाई स्थगित, जानिए वजह

उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि मीडिया की आवाज को दबाने के ऐसे प्रयास से बचा जा सकता था। सिन्हा ने अमित शाह के बेटे का केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल द्वारा किए गए बचाव की तरफ इशारा करते हुए कहा, ‘निश्चित तौर पर मैं कहना चाहूंगा कि जय शाह के बचाव में जिस तरह से एक केंद्रीय मंत्री आगे आए, वह उचित नहीं था। वह केंद्रीय मंत्री हैं न कि जय शाह के चार्टर्ड अकाउंटेंट।’

उन्होंने उन ‘विशिष्ट परिस्थितियों’ पर भी आपत्ति जताई जिनके तहत अतिरिक्त सोलीसीटर जनरल तुषार मेहता को द वायर के खिलाफ मानहानि के मामले में जय शाह की तरफ से मुकदमा लडऩे को मंजूरी दी गई। सिन्हा ने कहा, ‘इतने महीने और वर्षों में हमने जो उच्च नैतिक आधार बनाए थे, वे खत्म होते प्रतीत हो रहे हैं।’ 

अमित शाह के बेटे ने न्यूज पोर्टल पर किया मानहानि का केस, ASG तुषार मेहता करेंगे पैरवी

बहरहाल उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वह आलेख के गुण-दोष पर टिप्पणी नहीं करना चाहते जिसमें बताया गया है कि 2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से जय शाह की कंपनी के कारोबार में काफी बढ़ोतरी हो गई। सिन्हा ने कहा कि यह जांच का विषय है और कोई भी सरकारी एजेंसी इसे कर सकती है। भाजपा ने सिन्हा पर कांग्रेस से जुड़े होने के आरोप लगाए हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.