Monday, Jan 21, 2019

Interview 2: भाजपा पूर्वांचलियों को महत्व दे रही इसी कारण परेशान हैं अन्य पार्टियां

  • Updated on 11/23/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महिला टीचर पर गुस्सा करने की बात हो, निगम द्वारा लगाई गई सीलिंग तोडऩे का मामला हो या फिर सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन में हुआ विवाद, इन सब के कारण सांसद मनोज तिवारी की छवि एन्ग्री यंग मैन जैसी बन गई है। नवोदय टाइम्स/पंजाब केसरी के साथ मनोज ने विवादित घटनाओं से लेकर आगामी लोकसभा चुनाव और मंदिर मुद्दे तक खुलकर बात की। पेश हैं प्रमुख अंश:

रमेश बिधूड़ी कांड के बाद विपक्ष कह रहा है कि भाजपा पूर्वांचलियों का बहुत पहले से अपमान करती रही है?
दरअसल, दक्षिणी दिल्ली के सांसद रमेश बिधूड़ी के मामले को आम आदमी पार्टी ने गलत तरह से पेश किया है। यह झगड़ा दो लोगों के बीच का है, पूर्वांचली बनाम दिल्ली वाले का नहीं है। आपसी झगड़े तो कहीं भी हो सकते हैं। मैं पूर्वांचल का हूं और भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष हूं तो क्या जो मानवीय व्यवहार के कारण होने वाले झगड़े हैं, वह बंद हो जाएंगे।

आपने सांसद रमेश बिधूड़ी को नोटिस क्यों जारी किया?
नोटिस जारी करना तो लोकतांत्रिक प्रक्रिया है। मीडिया में आई खबरों के बाद प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते मैंने रमेश बिधूड़ी को अपना पक्ष रखने के लिए कहा। इसमें कुछ गलत तो नहीं। 

सीलिंग मामले पर मनोज तिवारी को मिली SC से राहत, अवमानना की कार्रवाई बंद

कांग्रेस के पूर्व सांसद महाबल मिश्रा का आरोप है भाजपा पूर्वांचलियों को यूज एंड थ्रो की तरह देखती है?
यह उनकी कुंठा है, वास्तव में तो यही बात उनको कांग्रेसी नेताओं से बोलनी चाहिए। उनको कहना चाहिए कि पूर्वांचलियों को सम्मान देने के लिए उनको पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए।

जिस तरह से दिल्ली की डेमोग्राफी बदली है तो क्या अब दिल्ली का सीएम पूर्वांचल मूल का होना चाहिए?
समाज के हर हिस्से को एक-एक बार मौका मिलना चाहिए। भाजपा ने समाज के हर हिस्से को अवसर दिया है। पहली बार भाजपा ने किसी पूर्वांचली को इतना बड़ा मौका दिया। भाजपा पूर्वांचल पार्टियों में परेशानी है। कांग्रेस और आप इसी बात से परेशान हैं कि भाजपा ने प्रदेश अध्यक्ष का पद पूर्वांचल मूल के लोगों को दिया है। खुद पर सवाल नहीं उठे, इसलिए दोनों पार्टियां साजिश रचती रहती हैं। 

मनोज तिवारी बोले- गंगा की उपासना करें सोनिया-राहुल

क्या आयुष्मान योजना दिल्ली में लांच होगी?
आयुष्मान योजना को रोकने के लिए केजरीवाल ने पूरी ताकत लगा दी। पांच लाख रुपए प्रति परिवार की योजना अगर यहां लागू कर दी जाती तो हर आदमी के घर पर एक तरह से मोहल्ला क्लीनिक खुलने जैसी बात हो जाती। इसी डर से सीएम इस योजना को रोकने में लगे रहे। सालभर चुनाव होगा तो पब्लिक इनको रोक देगी। 

लोग कहते हैं कि टैक्स फ्रॉड करने वालों को भगा दिया गया और सरकार ला भी नहीं रही?
मेरा सवाल है कि जितने भी देश छोड़कर भागे हैं, उनके मामले मोदी सरकार के आने के बाद ही क्यों खुले। ऐसा तो नहीं है कि यह सारे वर्ष 2014 में ही बिजनेसमैन बने। हां, कुछ नियम कानून हैं, जिनकी आड़ लेकर धोखाधड़ी करने वाले देश छोड़कर भाग गए। लेकिन, हमने एक सख्त बिल पास किया है, अब कोई भाग नहीं पाएगा।

जो भागे हैं, वह सभी कांग्रेस सरकार के समय से ही गोरखधंधों में लगे थे। भाजपा का दिल्ली अध्यक्ष होने के नेता मैं यह जरूर कहूंगा कि जो भागे हैं वह थोड़ी देर भाग तो सकते हैं लेकिन, भारत के कानून से बच नहीं सकते।

राममंदिर: अगले 3-4 महीने निर्णायक होंगे

राम मंदिर कब तक बनेगा, संघ दबाव बना रहा है। कांग्रेस कहती है, भाजपा कहती है लेकिन बनाती नहीं है?
एक बात तो है कि भाजपा मंदिर बनाने के लिए लड़ रही है और कांग्रेस मंदिर नहीं बने इसके लिए लड़ रही है। 67 वर्ष के बाद भारत के लोगों के सब्र का बांध टूट रहा है। भगवान राम को अब टेंट में नहीं रहना चाहिए। भगवान श्रीराम का मंदिर अब बनना चाहिए। सरकार के रहने नहीं रहने से मंदिर मुद्दे पर प्रभाव नहीं पड़ता। जब हम सरकार में नहीं थे, तब से लड़ रहे हैं मंदिर बनाने के लिए। जहां तक मैं समझ रहा हूं।

सीवर सफाई की आड़ में तिवारी ने साधा AAP पर निशाना, कहा-दिल्ली सरकार से अपेक्षा करना बेमानी है

आने वाले 3-4 महीने निर्णायक होंगे। लेकिन, एक बात और सच है कि इन दिनों जय श्रीराम बोलने का गजब जोश और उत्साह है। कोर्ट में भी तो न्यायमूर्ति इंसान हैं, जब संविधान लोगों के लिए है तो जनता के एक साथ खड़े होने पर निर्णय आएगा ही। जब पानी भरेगा और दरवाज बंद रहेगा तो खिड़की तो टूटेगी और पानी भीतर घुसेगा।

अब मत कहना न्यायपीठ पर था मुझको विश्वास नहीं, 67 वर्ष सब्र से देखे अब पूरी दिखती आस नहीं।न्यायालय को समय नहीं है निर्णय हो श्रीराम का, बांध सब्र का टूट चुका है घायल हिन्दुस्तान का।                                                                                                                         - मनोज तिवारी ‘मृदुल’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.