Saturday, Nov 27, 2021
-->
bjp karnataka govt cancel laborers special trains migrant laborers rjd objections rkdsnt

कर्नाटक में श्रमिक स्पेशल ट्रेनें रोकने पर तेजस्वी यादव बोले- बंधुआ हैं मजदूर

  • Updated on 5/6/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्नाटक की भाजपा सरकार ने बेंगलुरु से प्रवासी मजदूरों को लेकर जाने वालीं श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को रद्द कर दिया है। इसको लेकर विपक्ष ने सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। बता दें कि प्रवासी मजदूरों के चले जाने को लेकर बिल्डरों और कारोबारियों में हड़कंप मच गया था। इसके बाद उन्होंने सीएम बीएस येदियुरप्पा से गुहार लगाई। इसके बाद मजदूरों को रोकने के लिए ट्रेन की रद्द कर दी गईं। उधर, भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने सरकार के फैसले को जायज ठहराते हुए बचाव किया है। 

बिहार में कोरोना: सर्वदलीय बैठक में CM नीतीश के सामने तेजस्वी लगाई सुझावों की झड़ी

योगी सरकार ने भी यूपी में बढ़ाया शराब पर टैक्स, कोरोना नियमों में सजा का ऐलान

तेजस्वी सूर्या अपने ट्वीट में लिखते हैं, 'इंटर-स्टेट ट्रेन को रोककर सीएम बीएस येदियुरप्पा ने बोल्ड और जरूरी फैसला लिया है। इससे प्रवासी मजदूरों की मदद होगी, जो अपने सपनों को साकार करने और बेहतर जिंदगी के लिए यहां आएं हैं। साथ ही इससे अर्थव्यवस्था को तेज रफ्तार भी मिल सकेगी। कर्नाटक इससे मजबूती के साथ उभरेगा।' 

स्वरा भास्कर को भी रास आ रहा है राहुल गांधी का विशेषज्ञों से बातचीत का सिलसिला

गडकरी के पैकेज को लेकर सुब्रमण्यन स्वामी का केंद्रीय वित्त मंत्रालय से सवाल

सीएम ने निर्माण, व्यवसायों और अन्य औद्योगिक गतिविधियों को दोबारा शुरू करने के लिए श्रमिकों की गैरजरूरी यात्रा को कंट्रोल करने का फैसला लिया है। कर्नाटक के अंतर्राज्यीय परिवहन के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी एन.मंजूनाथ प्रसाद ने देर रात राज्य सरकार की ओर से एक पत्र साउथ वेस्टर्न रेलवे को लिखा था। पत्र में उन्होंने कहा था कि बुधवार से श्रमिक स्पेशल रेल नहीं चलेंगी।

CAA प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी को लेकर 1100 फेमिनिस्ट सक्रिय, निशाने पर दिल्ली पुलिस

विदेशों में फंसे 16,000 इंडियन 7 चरणों में लौटेंगे भारत, जानें कौन कहां से आएगा

लेकिन, इसको लेकर विपक्ष और कई बड़ी हस्तियों ने सवाल उठाए हैं। बिहार में नेता प्रतिपत्र तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में लिखा है, 'कर्नाटक के सीएम प्रवासी मजदूरों पर हुकूम नहीं चला सकते और ना ही उनके मानवाधिकारों और जरूरी संवेदनाओं को दरकिनार कर सकते हैं। बंधुआ मजदूर और दासों की तरह का कदम किसी भी सूरत में मंजूर नहीं होगा।'

तेलंगाना ने कोरोना लॉकडाउन को 17 मई के बाद भी बढ़ाया, पूरे राज्य में लगेगा कर्फ्यू

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.