Thursday, Dec 01, 2022
-->
bjp leader gautam gambhir again threatened challenges to delhi police rkdsnt

गौतम गंभीर को तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी, दिल्ली पुलिस को चुनौती

  • Updated on 11/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूर्व क्रिकेटर और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता गौतम गंभीर को कथित रूप से ‘आईएसआईएस कश्मीर’ ने जान से मारने की एक बार फिर शनिवार देर रात धमकी दी। सांसद गंभीर को पिछले छह दिन में तीसरी बार इस प्रकार की धमकी मिली है। गंभीर को ‘आईएसआईएसकश्मीरऐटदरेटयाहूडॉटकॉम’ से शनिवार देर रात एक बजकर 37 मिनट पर एक ईमेल मिला, जिसमें लिखा है, ‘‘आपकी दिल्ली पुलिस और आईपीएस (भारतीय पुलिस सेवा) की अधिकारी श्वेता (पुलिस उपायुक्त) कुछ नहीं उखाड़ सकतीं। हमारे जासूस पुलिस में भी हैं। आपके बारे में पूरी जानकारी मिल रही है।’’ 

दलित हत्याकांड : अखिलेश का शाह पर कटाक्ष- उम्मीद है ये अपराधी बिना चश्मे के भी दिख जाएंगे

इस संबंध में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि उन्हें ई-मेल की विषयवस्तु प्राप्त हो गई है और मामले की जांच की जारी है। गंभीर को मंगलवार औैर बुधवार को भी इसी प्रकार की धमकियां मिली थीं। गंभीर के निजी सचिव गौतम अरोड़ा द्वारा पुलिस में दर्ज कराई गई शिकायत के अनुसार, सांसद को मंगलवार रात नौ बजकर 32 मिनट पर उनके आधिकारिक ई-मेल आईडी पर जान से मारने की पहली धमकी दी गई। यह ई-मेल कथित रूप से आईएसआईएस कश्मीर ने भेजा था, जिसमें लिखा था, ‘‘हम आपको और आपके परिवार को जान से मार देंगे।’’ 

पंजाब में टंकी पर विरोध-प्रदर्शन कर रही बेरोजगार महिला टीचर को मनाने पहुंचे केजरीवाल

पुलिस उपायुक्त (मध्य) श्वेता चौहान ने कहा था, ‘‘शिकायत मिलने के बाद, जिला पुलिस ने गंभीर की निजी सुरक्षा और उनके राजेंद्र नगर इलाके में स्थित आवास के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।’’ इसके तुरंत बाद पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने गूगल को पत्र लिखकर उस ईमेल आईडी के संचालक समेत अन्य संबंधित जानकारी मांगी, जिससे कथित धमकी भरे मेल भेजे गए। 

सावरकर की तारीफ में केंद्रीय सूचना आयुक्त उदय माहूरकर ने पढ़े कसीदे

पुलिस ने बताया कि पुलिस उपायुक्त को फोन पर जानकारी दी गई कि गंभीर को बुधवार दोपहर दो बजकर 32 मिनट पर इसी ई-मेल आईडी से दूसरी बार धमकी दी गई। शिकायतकर्ता ने बताया कि दूसरे ई-मेल में गंभीर के आवास का एक वीडियो भी संलग्न था। दूसरे ई-मेल में कहा गया, ‘‘हम आपको जान से मारना चाहते थे, लेकिन आप कल बच गए। यदि आपको अपने परिवार की जान प्यारी है, तो राजनीति औैर कश्मीर के मामले से दूर रहिए।’’ 

राकेश टिकैत ने की किसानों के लिए MSP गारंटी के लिए कानून की मांग

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.