Monday, Mar 01, 2021
-->
bjp leader kapil mishra letter to president attack on kejriwal govt over farmers protest kmbsnt

कपिल मिश्रा ने लिखा राष्ट्रपति को पत्र, कहा- केजरीवाल सरकार बैनर लगाकर दिल्ली में बुला रही भीड़

  • Updated on 12/4/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली में नए कृषि कानूनों (New Farm laws) के खिलाफ एक ओर जहां किसान आंदोलनरत (Farmers Protest) हैं तो वहीं दूसरी ओर विपक्षी दल केंद्र की मोदी सरकार (Modi Govt) को घेर रहे हैं। ऐसे में केंद्र का बचाव करते हुए दिल्ली बीजेपी के नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधते हुए राष्ट्रपति को पत्र लिखा है। 

राष्ट्रपति को लेिखे अपने पत्र में कपिल मिश्रा ने कहा है कि कई राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता दिल्ली को बंधक बना रहे हैं। दिल्ली के लिए आवश्यक सब्जी, दूध, फलों, ऑक्सीजन सिलेंडर, दवाओं की स्पालई इत्यादि को प्रभावित किया जा रहा है। कोरोना महामारी के इस दौर में सुप्रीम कोर्ट के तमाम आदेशों का उल्लंघन करके दिल्ली में जगह-जगह भीड़ एकत्र की जा रही है। ये सीधे-सीधे हम दिल्ली वालों के बुजुर्ग माता पिता औओर छोटे-छोटे बच्चों के जीवन के साथ खिलवाड़ की स्थिति है। 

किसान आंदोलन: फिर बेनतीजा रही बैठक, 5 दिसंबर तक अंतिम फैसले के आसार

दिल्ली सरकार बुला रही भीड़
कपिल मिश्रा ने अपने पत्र में लिखा है कि छठ के महापर्व में भी हम दिल्ली वालों ने संयम का परिचय दिया। सरकारी दिशा निर्देशों का पालन किया। लेकिन आज दिल्ली को चारों तरफ से बंद कर दिया गया है। शहर में बिना किसी टेस्टिंग के लोगों की भीड़ इकट्ठा की जा रही है। दिल्ली सरकार को आड़े हाथों लेते हुए मिश्रा ने लिखा है कि दुखद तथ्य ये है कि हमारी दिल्ली की चुनी हुई सरकार ही दिल्ली वासियों के जीवन को सस्ता समझकर बैठी है और जगह-जगह होर्डिंग पोस्टर बैनर लगाकर भीड़ को सरकार के लोगों द्वारा दिल्ली बुलाया जा रहा है। 

कपिल मिश्रा ने किया शाहीन बाग का जिक्र
इस साल की शुरुआत में दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शनों को लेकर मिश्रा ने लिखा है कि दिल्ली में इस प्रकार का प्रदर्शन कोई पहली बार नहीं हो रहा है। इससे पहले शाहीन बाग में भी सड़क घेरकर कई महीनों तक लोग धरने पर बैठे थे। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने इस प्रकार सड़क बंद करने को गैर कानूनी घोषित किया था। 

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों ने दी देशभर में आंदोलन और तेज करने की चेतावनी

दिल्लीवालों के मौलिक अधिकारों को दिलाया याद
अपने पत्र में दिल्लीवासियों के मौलिक अधिकारों की ओर राष्ट्रपति का ध्यान आकर्षित करते हुए कपिल मिश्रा ने लिखा है कि हम दिल्ली वालों का जीवन भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना किसी भी अन्य राज्य के नागरिकों का। हमारे मुल अधिकारों को भी संविधान का उतना ही संरक्षण प्राप्त है जितना किसी भी अन्य राज्य के नागरिकों को। 

कपिल मिश्रा ने राष्ट्रपति से निवेदन किया है कि राष्ट्रीय राजधानी के निवासियों की जिंदगी को इस प्रकार मौत के मुंब में बार-बार फेंके जाने के खिलाफ ठोस और निर्णायक निर्णय लीजिए। इस तरह राजनैतिक बाजीगरी के लिए करोड़ों लोगों की जिंदगी के साथ खिलवाड़ करने की अनुमति नहीं दी जा सकती। 

ये भी पढ़ें-

comments

.
.
.
.
.