Sunday, Feb 28, 2021
-->
bjp leader vijayvargiya said mamta should not be angry with jai shri ram slogan albsnt

विजयवर्गीय ने कहा- ममता को 'जय श्री राम' नारे से नहीं होना चाहिये नाराज, बंद करें तुष्टिकरण

  • Updated on 1/24/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को देखते हुए सत्ताधारी टीएमसी और बीजेपी में जोर-आजमाइश तेज हो गई है। इसी कड़ी में जब शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में ममता ने नाराजगी प्रकट तो राजनीति भी तेज हो गई है। बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि ममता राज्य के अल्पसंख्यकों को तुष्टिकरण करने के चलते ही जय श्री राम के नारे से नाराज हो गई।

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद की तबियत बिगड़ी, लाये गए रांची से दिल्ली AIIMS

उन्होंने कहा कि हमारे भारतीय परंपरा में कुशल-क्षेम जानने के लिये भी लोग एक-दूसरे से मिलने पर जय श्री राम बोलते है,इस पर किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिये। दरअसल यह विवाद तब बढ़ा जब पीएऐम नरेंद्र मोदी, राज्यपाल जगदीश धनकड और सीएम ममता बनर्जी नेताजी के जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में उपस्थित थे। तभी दर्शकों में से कुछ ने जय श्री राम और भारत माता की जय के नारे लगाये। जिससे मंच पर आसीन ममता नाराज हो गई। उन्होंने इस नारेबाजी पर आपत्ति जताते हुए कहा कि यह सरकारी कार्यक्रम है। किसी एक दल का यह मंच नहीं है। ऐसे में गरिमा का पालन किया जाना आवश्यक है। उन्होंने अपना विरोध जताते हुए भाषण देने से भी मना कर दिया।

उत्तराखंड को आज मिलेगी ये नई CM, जानें किसके नाम पर त्रिवेंद्र सिंह रावत ने लगाई मुहर

बता दें कि जिसके बाद से बीजेपी और टीएमसी में बयानबाजी तेज हो गई है। कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि राज्य के 9 करोड़ जनता में से 30 फीसदी जनता के हितों की बात करने वाली ममता को जय श्री राम के नारे पर नाराज नहीं होना चाहिये। उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में जनता ममता को अच्छी तरह जवाब देगी।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.