Saturday, Oct 01, 2022
-->
bjp leaders congratulate party on victory in ladakh hill development council election rkdsnt

भाजपा नेताओं ने लद्दाख पर्वतीय विकास परिषद चुनाव में पार्टी की जीत पर दी बधाई

  • Updated on 10/26/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा सहित पार्टी के अन्य नेताओं ने लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद चुनाव में भाजपा की शानदार जीत पर कार्यकर्ताओं और क्षेत्र के लोगों को बधाई दी और कहा कि यह जीत दर्शाती है कि क्षेत्र की जनता का विश्वास भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ है। 

CBI जांच : दिशा सालियान मौत मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गेंद बॉम्बे हाई कोर्ट में डाली

शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘‘लेह स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद के चुनाव में भाजपा की शानदार जीत साफ तौर पर दर्शाती है कि लद्दाख का ²ढ़ विश्वास भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ है। मैं लद्दाख की जनता को विकास और समृद्धि का चयन करने के लिए धन्यवाद देता हूं और साथ ही भाजपा कार्यकर्ताओं को भी बधाई देता हूं।’’ लद्दाख स्वायत्त पर्वतीय विकास परिषद के कुल घोषित 26 परिणामों में से भाजपा ने 15 सीटों पर जीत दर्ज की है। नौ सीटों पर कांग्रेस और दो अन्य सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीतने में सफल रहे। 

'महंगाई डायन' को लेकर कांग्रेस ने भाजपा सरकार पर बोला हमला

नड्डा ने ट्वीट कर कहा, ‘‘लेह के चुनाव में भाजपा की जीत ऐतिहासिक है। भाजपा ने 26 में से 15 सीटों पर जीत हासिल की है। इस जीत के लिए मैं सांसद जामयांग शिरिंग नामग्याल और भाजपा कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं। लद्दाख की जनता का भाजपा पर विश्वास जताने के लिए मैं उनका आभार व्यक्त करता हूं।’’ जम्मू-कश्मीर को अनुच्छेद 370 के तहत मिले विशेष दर्जे को समाप्त करने और लद्दाख के केंद्र शासित प्रदेश बनने के बाद पहली बार वहां विकास परिषद के चुनाव हुए हैं।

पीडीपी के तीन वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दिया 
जम्मू क्षेत्र से पीडीपी के तीन नेताओं ने पार्टी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती द्वारा राष्ट्रीय ध्वज को लेकर बयान दिये जाने के बाद पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। यह जानकारी पीडीपी सूत्रों ने यहां सोमवार को दी। सूत्रों ने बताया कि वरिष्ठ नेताओं टी एस बाजवा, हसन अली वफा और बेद महाजन ने पीडीपी से इस्तीफा दे दिया है। 

पराली मामला: सुप्रीम कोर्ट में लोकुर कमेटी की नियुक्ति पर सस्पेंस बरकरार

सूत्रों ने बताया कि तीनों नेता महबूबा मुफ्ती के जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा बहाल होने तक तिरंगा झंडा नहीं उठाने संबंधी उनके बयान से नाखुश थे।       भाजपा नेताओं ने महबूबा मुफ्ती पर उनकी टिप्पणी को लेकर निशाना साधा था और कहा था कि उनके देशद्रोही बयान को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 

उद्धव का BJP से सवाल- बिहार के लिए टीका मुफ्त, बाकी राज्यों के लोग क्या बांग्लादेश से आए हैं?

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को कहा था कि उन्हें तब तक चुनाव लडऩे या राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा उठाने में कोई दिलचस्पी नहीं है जब तक पिछले साल पांच अगस्त को लागू किए गए संवैधानिक बदलाव वापस नहीं लिये जाते। उल्लेखनीय है कि केंद्र ने गत वर्ष पांच अगस्त को तत्कालीन राज्य का विशेष दर्जा समाप्त करने के साथ ही उसे दो केंद्र शासित प्रदेशों, जम्मू कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया था।     

बीमा विज्ञापन नियमनों में बदलाव का IRDA ने किया प्रस्ताव

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.