Tuesday, Jul 23, 2019

उत्तर प्रदेश : बेटी की गुहार के बाद बरेली से भाजपा विधायक ने दी सफाई

  • Updated on 7/11/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश के बरेली से प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा विधायक पर उनकी ही बेटी द्वारा जान का खतरा बताये जाने के बाद उन्होंने कहा है कि वह पार्टी के काम से व्यस्त थे और उनसे किसी को कोई खतरा नहीं है। प्रदेश के बरेली जिले की बिथरी चैनपुर सीट से भाजपा विधायक राजेश कुमार मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल ने गुरूवार को एक बयान में कहा कि मीडिया में उनके खिलाफ जो कुछ भी चल रहा है, वह गलत है।

 #BJP विधायक की बेटी ने कोर्ट से लगाई सुरक्षा की गुहार, की है दलित से शादी

गिरिराज बोले, दो से ज्यादा बच्चे वालों को वोट देने से किया जाए वंचित 

मिश्र ने कहा,‘‘मेरी पुत्री बालिग है और उसे अपने फैसले लेने का हक है । ना तो मैं, ना मेरा कोई आदमी या ना ही परिवार के किसी सदस्य ने किसी को भी जान से मारने की धमकी नहीं दी है ।‘‘ उन्होंने कहा कि वह और उनके परिवार के लोग व्यस्त हैं और‘‘मैं अपने क्षेत्र में जनता का काम कर रहा हूं और इस समय हम भाजपा का सदस्यता अभियान चला रहे हैं । मेरी ओर से किसी को कोई खतरा नहीं है ।‘‘ 

INX मीडिया केस : सरकारी गवाह बनीं इंद्राणी, बढ़ेंगी चिदंबरम की मुश्किलें

विधायक की बेटी साक्षी ने दलित युवक अजितेश कुमार के साथ वैदिक हिन्दू रीति रिवाज से शादी करने का वीडियो बुधवार को वायरल किया था। उसके बाद जारी एक अन्य वीडियो में उसने बरेली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से गुहार की कि उसके पिता और विधायक राजेश मिश्रा, भाई विक्की और पिता के एक सहयोगी से जान का खतरा है और ऐसे में उसे और उसके पति को सुरक्षा दी जाय । 

#RTI कार्यकर्ता हत्याकांड : पूर्व #BJP सांसद समेत 7 अन्य को उम्रकैद

साक्षी ने आरोप लगाया कि सभी लोग मिलकर उसकी और उसके पति की हत्या करना चाहते हैं । साक्षी ने बरेली के सांसद, विधायकों और मंत्रियों से अपील है कि वे उसके पिता, भाई और पिता के सहयोगी की मदद न करें। बरेली के पुलिस उप महानिरीक्षक आर के पांडेय ने बताया कि साक्षी मिश्र की दलित युवक अजितेश कुमार से विवाह की सूचना वायरल वीडियो से मिली है।

#CBI छापेमारी पर वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

पाण्डेय ने बताया कि उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से सुरक्षा की गुहार की है और यह मामला संज्ञान में आने पर उन्होंने बरेली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देश दिया है कि साक्षी और अजितेश को सुरक्षा दी जाय। अधिकारी ने हालांकि बताया कि दंपति ने अभी तक यह नहीं सूचित किया है कि उनका पता ठिकाना कहाँ है और उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस कहाँ भेजी जाय। साक्षी ने वायरल वीडियो के माध्यम से अपने पिता से कहा है कि उसे चैन से रहने दिया जाय और वह चैन से राजनीति करें। 

गंभीर बाल यौन शोषण मामलों में मौत की सजा का प्रावधान, कानून बनेगा सख्त

साक्षी ने यह भी धमकी दी है कि यदि उसकी और पति की हत्या की गई तो ‘‘ऐसा कुछ करके मरूंगी कि सब जेल जाएंगे ।’’ इस बीच साक्षी और उसके पति ने गुरुवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर विवाहित दंपति के रूप में शांतिपूर्ण जीवन जीने के लिए सुरक्षा मांगी है। अदालत ने सुनवाई की अगली तारीख 15 जुलाई तय की है क्योंकि साक्षी और उसके पति अजितेश अदालत में उपस्थित नहीं थे। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.