Tuesday, Jan 21, 2020
bjp modi govt considering transfer land assets debt of telecom company bsnl to a special entity

BSNL की जमीन को खास इकाई को सौंपेगी मोदी सरकार, यूनियन को ऐतराज!

  • Updated on 8/8/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र की मोदी सरकार दूरसंचार कंपनी बीएसएनएल की भू परिसंपत्तियों और कर्ज को एक विशेष इकाई (एसपीवी) को स्थानांतरित करने का विचार कर रही है, ताकि सार्वजनिक क्षेत्र की इस कंपनी को कर्ज मुक्त बनाया जा सके। वहीं भारत संचार निगम लि (बीएसएनएल) की कर्मचारी यूनियन का आरोप है कि सरकार देश में प्रमुख स्थानों पर कंपनी की जमीनों को काफी कम मूल्य यानी 20,210 करोड़ रुपये में एसपीवी को स्थानांतरित करना चाहती है। 

उन्नाव रेप पीड़िता मामला : CBI कोर्ट में बढ़ा रही है विधायक कुलदीप सेंगर की मुश्किलें

यूनियन ने कहा कि ये जमीनें देश के प्रमुख शहरों में हैं और इनका मूल्य कम कर लगाया गया है। बीएसएनएल प्रबंधन ने हालांकि इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि जमीनों का मूल्यांकन अभी सांकेतिक है और जमीन के टुकड़ों को बेचने से पहले उनका अंतिम मूल्यांकन किया जाएगा। समझा जाता है कि यह विशेष इकाई इन जमीन के टुकड़ों को बेचेगी और बीएसएनएल का करीब 15,000 करोड़ रुपये का कर्ज चुकाएगी। 

विमानन घोटाला : CBI ने की NCP नेता प्रफुल्ल पटेल से की पूछताछ

बीएसएनएल कर्मचारी यूनियन ने दूरसंचार सचिव को लिखे पत्र में कहा है कि जमीनों के मौद्रिकरण के नाम पर कंपनी की जमीनों को औने पौने दाम पर एसपीवी को स्थानांतरित किया जा रहा है। इस बारे में संपर्क करने पर बीएसएनएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक पी के पुरवार ने कहा कि इस तरह के आरोप गलत हैं। यह मूल्यांकन कैबिनेट तैयार करने के उद्देश्य से सांकेतिक आधार पर तैयार किया गया है। 

अयोध्या मामले में SC ने पूछा- भूमि विवाद में जन्म स्थान को कैसे बनाया जा सकता है पक्षकार?

उन्होंने कहा कि इसका अंतिम मूल्यांकन सरकार के पास पंजीकृत मूल्यांकक द्वारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिस एसपीवी का प्रस्ताव किया गया है उसका शत प्रतिशत स्वामित्व सरकार के पास होगा। वहीं यूनियन ने कहा है कि उसने चेन्नई और केरल सर्किल में जमीन के टुकड़ों की जानकारी जुटाई है। इसमें यह सामने आया है कि इन जमीनों का मूल्य काफी कम लगाया गया है। 

भाजपा की नींद उड़ाने कश्मीर जाएंगे वामदलों के नेता, राज्यपाल को किया सूचित

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.