Friday, May 07, 2021
-->

सहारनपुर में बोलीं मायावती- हिंसा के लिए BJP जिम्मेदार

  • Updated on 5/23/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। बसपा प्रमुख मायावती ने आज कहा कि सहारनपुर में हिंसा के लिए भाजपा नीत उत्तर प्रदेश सरकार जिम्मेदार है और आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ पार्टी अपने लोगों को कमजोर तबके पर हमला करने से रोकने में विफल रही।

यूपीः सहारनपुर फिर तैयार कर रही है दलित राजनीति की जमीन

सुप्रीमो मायावती के दौरे के बाद सहारनपुर में फिर हिंसा भड़क गई है। बीएसपी सुप्रीमो मायावती के दौरे के बाद शब्बीरपुर से लौट रहे बीएसपी कार्यकर्ताओं की गाड़ी पर एक खास जाति के लोगों ने हमला कर दिया। हमले में 6 लोग घायल हुए। एक अलग घटना में माया के कार्यक्रम से लौट रहे एक शख्स की गोली मारकर हत्या कर दी गई। ‘साम्प्रदायिक तनाव’ से योगी आदित्यनाथ की ‘मुश्किलें बढऩे लगी’

शब्बीरपुर गांव के ठाकुरों ने दलितों को एक मंदिर परिसर के अंदर बी आर अंबेडकर की प्रतिमा लगाने से रोका था। बाद में दलितों के एक समूह ने पांच मई को ठाकुरों द्वारा निकाली जा रही राजपूत राजा महाराणा प्रताप की जयंती के जुलूस को रोका जिससे हिंसा हुई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और 15 से ज्यादा जख्मी हो गए।

मायावती ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘सहारनपुर जिला प्रशासन ने अंबेडकर की आवक्ष प्रतिमा नहीं लगाने दी जबकि महाराणा प्रताप की जयंती पर बिना अनुमति के जुलूस निकाला गया।’ उन्होंने कहा, ‘दलितों ने इस भेदभाव पर अपनी प्रतिक्रिया जताई।’

पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि केशव प्रसाद मौर्य पहले मुख्यमंत्री पद की दौड़ में सबसे आगे चल रहे थे लेकिन उनकी जाति को देखते हुए उन्हें नजरअंदाज कर दिया गया। मायावती ने कहा कि भाजपा बीआर अंबेडकर का जिक्र केवल वोट के लिए करती है और वह न तो दलित महापुरुष न ही उनके अनुयायियों की वास्तव में चिंता करती है।

उन्होंने कहा, ‘भाजपा नेता अकसर बीआर अंबेडकर का जिक्र करते हैं लेकिन अंबेडकर के अनुयायियों को अन्याय का सामना करना पड़ता है। वे अंबेडकर की चर्चा केवल वोट के लिए करते हैं। लोग इस तरह की दलित विरोधी पार्टी को स्वीकार नहीं करेंगे।’

बसपा प्रमुख ने राज्य में कानून-व्यवस्था की ‘खराब’ होती स्थिति पर कहा, ‘राज्य सरकार लोगों को शांति और सुरक्षा देने के अपने संवैधानिक दायित्व को पूरा करने में विफल रही है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.