Wednesday, Dec 08, 2021
-->
bjp said why donot cm ddhav thackeray speak on his government performance pragnt

उद्धव ठाकरे के हमले पर BJP का पलटवार, कहा- अपनी सरकार के प्रदर्शन पर क्यों नहीं बोलते CM

  • Updated on 10/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र बीजेपी (Maharashtra BJP) ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के पास अपनी 11 महीने पुरानी सरकार के प्रदर्शन के बारे में कहने के लिए कुछ नहीं था और शिवसेना (Shiv Sena) की वार्षिक दशहरा रैली में उन्होंने केवल बीजेपी (BJP) और केंद्र सरकार पर निशाना साधा।

चिराग पासवान ने खेला ‘मंदिर कार्ड’, कहा- सिया बिन राम अधूरे हैं, इसलिए सीता मंदिर निर्माण

सत्ता के लिए शिवसेना ने हिंदुत्व से किया समझौता
महाराष्ट्र भाजपा के प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने आरोप लगाया कि ठाकरे के पास शिवसैनिकों को अपनी सरकार के काम के बारे में बताने के लिए कुछ भी नहीं था। उन्होंने कहा, 'सत्ता के लिए शिवसेना ने हिंदुत्व से समझौता किया। उद्धव ठाकरे ने कांग्रेस द्वारा सावरकर की आलोचना पर एक भी शब्द नहीं बोला और उन्हें सावरकर स्टेडियम से दशहरा रैली को संबोधित करना पड़ा। यह आदर्श न्याय है।'

संजय राउत बोले- फडणवीस को अब कोरोना के हालात की गंभीरता का एहसास होगा

महाराष्ट्र सरकार पर लगाया आरोप
उपाध्ये ने कहा कि राज्य सरकार ने दस हजार करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा कर किसानों के साथ मजाक किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार ने केंद्र के जीएसटी प्रस्ताव का जवाब नहीं दिया। उपाध्ये ने कहा कि देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा इसी राज्य में है। ठाकरे ने रविवार की शाम को हुई रैली में भाजपा पर यह कहते हुए प्रहार किया कि अगर केंद्र सरकार देश की अर्थव्यवस्था सुधारने के बजाए केवल सरकारों को गिराने में रूचि रखती है तो देश में अराजकता फैल जाएगी।

उद्धव का BJP से सवाल- बिहार के लिए टीका मुफ्त, बाकी राज्यों के लोग क्या बांग्लादेश से आए हैं?

PM मोदी पर बोला हमला
शिवसेना की वार्षिक दशहरा रैली को संबोधित कर रहे ठाकरे ने भाजपा को चुनौती दी कि उनकी 11 महीने पुरानी सरकार गिराकर दिखाएं। उन्होंने कहा कि पहले भाजपा केंद्र में अपनी सरकार को बचाए। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) का नाम लिये बिना कहा, 'पहले 'कोई विकल्प' नहीं होने की बात के बजाय लोगों ने अब सोचना शुरू कर दिया है कि आपको छोड़कर कोई और करेगा।'

साक्षी महाराज का विवादित बयान, बोले- आबादी के अनुपात में बने श्मसान और कब्रिस्तान

सरकारें गिराने के बजाय सुधारें अर्थव्यवस्था
उन्होंने कहा, 'अर्थव्यवस्था में सुधार के बजाय सरकारों को गिराने के लिए कदम उठाये गये। हम अराजकता की ओर बढ़ रहे हैं।' मुख्यमंत्री ने कहा कि शिवसेना को सत्ता का लोभ नहीं है। उन्होंने कहा, 'देश में जब महामारी फैल रही है तब कोई राजनीति कैसे कर सकता है? शिवसेना के हिंदुत्व पर सवाल उठाया जा रहा है। महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस की छवि खराब की जा रही है।'

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.