Wednesday, May 12, 2021
-->
bjp sambit patra ravi shankar nirav extradition case congress rahul gandhi pragnt

कांग्रेस नेता ने दी भगोड़े नीरव मोदी की गवाही, BJP ने पूछा- क्या है राहुल गांधी से रिश्ता

  • Updated on 5/14/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भगोड़े हीरा कोराबारी नीरव मोदी (Nirav Modi) को लेकर एक बार फिर सियासत तेज हो गई है। नीरव मोदी के खिलाफ प्रत्यर्पण मामले में ब्रिटेन की एक कोर्ट में चल रही सुनवाई में नीरव के पक्ष में पूर्व जज द्वारा गवाही देने का मामला सामने आया है। इसके बाद बीजेपी (BJP) ने कांग्रेस (Congress) और पार्टी नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को निशाने पर लिया है और पूर्व जज अभय थिप्से (Abhay Tipsay) से उनके संबंधों को लेकर सवाल किया है।

नीरव मोदी के खिलाफ ब्रिटिश कोर्ट में पेश हुआ वीडियो, नकली निदेशकों को जान से मारने की दी धमकी

BJP ने राहुल पर दागे सवाल
बीजेपी नेता और प्रवक्ता संबित पात्रा (Sambit Patra) ने ट्वीट कर कांग्रेस और राहुल गांधी को घेरते हुए कहा, 'यहां भारत में राहुल गांधी नीरव मोदी को लेकर सरकार से सवाल पूछते हैं, दूसरी तरफ राहुल के खास एवं कांग्रेस के अभय थिप्से (पूर्व जज) नीरव मोदी के पक्ष में गवाह बनते हैं। आखिर क्या है जो राहुल नहीं चाहते कि नीरव भारत आए। उस रात पार्टी में राहुल और नीरव में क्या लेन-देन हुई थी?'

MP: कमलनाथ सरकार के अंतिम छह महीनों के फैसलों की समीक्षा के लिए मंत्रिसमूह का गठन

रवि शंकर प्रसाद ने की PC
वहीं, बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि भगोड़े नीरव मोदी को बचाने के लिए पूरी कांग्रेस उतर गई है। बीजेपी ने कहा कि नीरव मोदी के खिलाफ प्रत्यर्पण की कार्यवाही में कांग्रेस के एक सदस्य, उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश बचाव पक्ष के गवाह के तौर पर पेश हुए, यह विपक्षी पार्टी का असली चेहरा दिखाता है। 

उन्होंने आगे कहा कि अत्यधिक संदिग्ध परिस्थितियां बताती हैं कि कांग्रेस नीरव मोदी को बचाने के लिए हरसंभव कोशिश कर रही है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस की ओर से एक पूर्व न्यायाधीश ब्रिटेन में न्यायिक प्रक्रिया को प्रभावित करने के लिए काम कर रहे हैं, हमारी जांच एजेंसी प्रभावी तरीके से इसका जवाब देगी।

पूर्व CJI रंजन गोगोई ने कहा, एक्टिविस्ट व मध्यस्थता करने वाले जजों से सवाल क्यों नहीं पूछे जाते

नीरव मोदी को बचाने के लिए कांग्रेस उतरी
उन्होंने कहा, 'कांग्रेस ने हर प्रकार से नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को बचाने की कोशिश की। अब जब वो गिरफ्तार हो गए हैं, तो कांग्रेस से जुड़े एक रिटायर्ड जज उनको बचाने की कोशिश में लगे हैं। 13 मई को, मुंबई हाई कोर्ट के एक रिटायर्ड जज हैं, इन्होंने नीरव मोदी के डिफेंस विटनेस के रूप में ये स्टैंड लिया है कि नीरव मोदी के खिलाफ कोई केस नहीं है। उनको बचाने की पूरी कोशिश की गई है।'

UPA सरकार ने नीरव की कंपनी को फायदा पहुंचाया
रवि शंकर प्रसाद ने कहा, 'नीरव मोदी से संबंधित मामले कांग्रेस के शासन के हैं। ये अधिकांश सब यूपीए-1 और यूपीए-2 में हुआ था। श्रीमान राहुल गांधी जी ने 13 सितंबर 2013 को नीरव मोदी के एक कार्यक्रम में भी शिरकत की थी।'

केंद्रीय मंत्री गडकरी का बड़ा बयान, कहा- प्राकृतिक नहीं कोरोना, लैब में बनाया गया

क्या है मामला?
दरअसल, धोखाधड़ी एवं धनशोधन के आरोपों से घिरे हीरा व्यापारी नीरव मोदी के खिलाफ प्रत्यर्पण मामले की लंदन की एक अदालत में सुनवाई के दौरान कांग्रेस में शामिल बंबई और इलाहाबाद हाई कोर्ट के पूर्व जज अभय थिप्से ने नीरव के पक्ष में गवाही दी। थिप्से ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए अदालत को बताया कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) के नीरव पर लगाए गए आरोप भारतीय कानूनों के तहत नहीं टिक पाएंगे। थिप्से ने कोर्ट में तर्क दिया कि जबतक आपके साथ धोखा न हुआ हो तबतक भारतीय कानून के तहत धोखाधड़ी का केस नहीं बन सकता है। अगर एलओयू (LoU) करने में धोखाधड़ी नहीं हुई हो तो इसमें धोखे का तो कोई सवाल ही नहीं उठता है। इसके बाद ही बीजेपी ने इस मामले पर कांग्रेस और राहुल गांधी पर आरोप लगाए हैं।

comments

.
.
.
.
.