Monday, Aug 02, 2021
-->
BJP SP BSP congress waiting Results of byelection in 7 assembly seats of UP rkdsnt

उप्र की 7 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के नतीजे का भी है भाजपा, सपा, बसपा को इंतजार

  • Updated on 11/9/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उप्र की सात विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के लिये मतगणना मंगलवार को होगी, और प्रशासन की तरफ से सुचारू मतगणना के लिये व्यापक इंतजाम किये गए हैं। इन सीटों पर तीन नवंबर को उप-चुनाव हुआ था। उपचुनाव में औसतन 53 फीसदी मतदाताओं ने 88 प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद कर दिया था । जिन सीटों पर उपचुनाव हुआ था उनमें नौगांव सादात, टुंडला, बांगरमउ, बुलंदशहर, देवरिया, घाटमपुर और मल्हनी विधानसभा सीटें शामिल है। 

अडाणी गैस को सिटी गैस परियोजना पूरी करने के लिए मिला अतिरिक्त वक्त

इस बीच सोमवार को उपचुनाव के नतीजे आने से एक दिन पहले समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को आरोप लगाया कि राज्य की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने उपचुनाव में धांधली की है। उन्होंने कहा कि परिणाम आने के बाद वह मीडिया को कुछ ऐसे वीडियो दिखायेंगे जिसमें मतदाताओं को निकलने से रोका जा रहा है।

बिहार चुनाव परिणाम से पहले महागठबंधन में हलचल तेज, सुरजेवाला रणनीति बनाने में जुटे

अखिलेश यादव ने सोमवार को एक पत्रकार वार्ता में आरोप लगाया,‘‘राज्य में भारतीय जनता पार्टी ने धांधली, धोखे और प्रशासन के माध्यम से जो कुछ कर सकती है, किया है। सरकार ने यह व्यवस्था की थी कि वोट निकल कर न आ जायें, इसके बारे में विस्तार से जानकारी 10 नवंबर को उपचुनाव का परिणाम आने के बाद देंगे।‘‘  

बॉलीवुड निर्माताओं की याचिका पर अदालत ने ‘रिपब्लिक टीवी’, ‘टाइम्स नाउ’ से मांगा जवाब

मतगणना से एक दिन पहले अखिलेश यह आरोप लगा रहे हैं लेकिन मतदान के दिन तीन नवंबर को सपा के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने एक बयान में कहा था कि मतदान का रूझान यह दर्शा रहा कि उनकी पार्टी सभी विधानसभा सीटों पर चुनाच जीतेंगी। पिछली बार इन सात में से मल्हनी सीट सपा के पास थी जबकि छह सीटों पर भाजपा का कब्जा था। तीन नवंबर को सातों सीटों के लिए हुये उपचुनाव में निर्दलीय समेत कुल 88 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें सर्वाधिक 18 प्रत्?याशी बुलंदशहर सीट पर हैं। जौनपुर जिले की मल्हनी सीट पर 16 उम्मीदवार आमने-सामने हैं। 

सूचना से इंकार को लेकर CIC ने CBI से मांगा जवाब

अमरोहा जिले की नौगांव-सादात सीट और देवरिया सीट पर 14-14 उम्?मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इसके अलावा फिरोजाबाद की टूंडला और उन्नाव की बांगरमऊ सीट पर 10-10 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि कानपुर की घाटमपुर विधानसभा सीट पर सबसे कम छह उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं। इन सबकी किस्मत का फैसला मंगलवार को होगा।  

अनुष्का की खातिर छुट्टी लेंगे कोहली, आस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट टीम में रोहित शर्मा

गौरतलब है कि राज्य सरकार में मंत्री रहे पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान के निधन से रिक्त हुई नौगांव-सादात सीट पर भाजपा से उनकी पत्नी संगीता चौहान, कांग्रेस से कमलेश सिंह, सपा से जावेद अब्बास, बसपा से फुरकान और राकांपा से हशमत अली समेत अन्य उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। राज्य सरकार में मंत्री कमल रानी वरुण के निधन के रिक्त हुई घाटमपुर सीट पर भाजपा से उपेंद्र नाथ पासवान, सपा से इंद्रजीत कोरी, बसपा से कुलदीप संखवार और कांग्रेस से डॉ कृपा शंकर उम्मीदवार हैं।  

तनख्वाह भुगतान नहीं देने के मामले में हाई कोर्ट का रोक हटाने से इंकार

विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी के मुख्य सचेतक रहे वीरेंद्र सिंह सिरोही के निधन के बाद भाजपा ने बुलंदशहर सीट पर सिरोही की पत्नी ऊषा सिरोही, बसपा ने मोहम्मद युनूस, कांग्रेस ने सुशील चौधरी, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने योगेंद्र शंकर शर्मा, आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन ने दिलशाद अहमद और राष्ट्रीय लोकदल ने प्रवीण कुमार सिंह को मौका दिया है।

मप्र उपचुनाव पर भी होंगी सभी की निगाहें, भाजपा-कांग्रेस की साख दांव पर
 

समाजवादी पार्टी ने इस सीट पर राष्ट्रीय लोकदल को समर्थन दिया है। उन्नाव की बांगरमऊ सीट पर कांग्रेस से आरती बाजपेयी, बहुजन समाज पार्टी से महेश प्रसाद और भारतीय जनता पार्टी से श्रीकांत कटियार चुनाव मैदान में हैं, जबकि समाजवादी पार्टी ने यहां सुरेश कुमार पाल को मैदान में उतारा है। बांगरमऊ सीट विधायक कुलदीप सेंगर के सजायाफ्ता होने से रिक्त हुई है। 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

comments

.
.
.
.
.