Sunday, Jan 19, 2020
bjp suspended 2 political leaders on video viral on social media

यौन अपराधों में संलिप्त लोगों के विरुद्ध भाजपा कठोर कदम उठाए

  • Updated on 7/30/2019

देश की सबसे बड़ी पार्टी भाजपा में भी वही बुराइयां आती जा रही हैं जिनसे अन्य अनेक राजनीतिक पार्टियां (Political Party) ग्रस्त हैं। मात्र चार दिनों में ऐसे 2 मामले सामने आए हैं जिनमें भाजपा के नेताओं (Leaders) पर यौन अपराधों में संलिप्त होने के आरोप लगाए गए हैं: 
 पहला मामला हिमाचल (Himachal) का है जहां 24 जुलाई को कुल्लू जिले से संबंधित पार्टी के एक युवा नेता तथा एक महिला नेत्री का अंतरंग मुद्राओं में 12 मिनट 35 सैकेंड का एक अश्लील वीडियो वायरल (Viral Video) हुआ। इस वीडियो के वायरल होने से मचे कोहराम के बाद दोनों को पार्टी से निलंबित कर दिया गया है। 

अभी किसी को भी पार्किंग शुल्क वसूलने की इजाजत नहीं दी जा रही है: SC

दूसरा मामला 28 जुलाई का है जब उन्नाव के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर बलात्कार का आरोप लगाने वाली पीड़िता की कार को रायबरेली-बांदा हाईवे पर एक ट्रक ने कुचल डाला।

#BJP ने अपने सांसदों के साथ IIM, IISC जैसे संस्थानों के स्टूडेंट्स को बनाया इंटर्न

इसके परिणामस्वरूप पीड़िता के साथ कार में सवार उसकी चाची और मौसी तथा ड्राइवर की मृत्यु हो गई जबकि पीड़िता के वकील एवं पीड़िता की हालत इन पंक्तियों के लिखे जाने तक गंभीर बनी हुई है। उसके फेफड़ों में चोट लगी है और डाक्टरों के अनुसार उसका ब्लड प्रैशर गिर रहा है। उसके शरीर की अनेक हड्डियां भी टूट गई हैं। 

पीड़िता अपनी रिश्तेदार महिलाओं और वकील के साथ रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा महेश सिंह से मिलने जा रही थी। पीड़िता की मां ने आरोप लगाया है कि ‘इस घटना के लिए विधायक के आदमी जिम्मेदार हैं जो कई दिनों से धमकी दे रहे थे कि भले ही वह (विधायक) जेल में है लेकिन उसके आदमी बाहर हैं।’

कर्नाटक विधानसभा से अयोग्य घोषित कांग्रेस के बागी नेता पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

उल्लेखनीय है कि 2017 के इस प्रसिद्ध बलात्कार केस में सेंगर के भाई पर पीड़िता के पिता को पेड़ से बांध कर पीटने का भी आरोप है। बाद में पीड़िता के पिता की पुलिस द्वारा गिरफ्तारी के बाद हिरासत में मौत हो गई। यही नहीं, इस हमले के एक चश्मदीद गवाह की भी अगस्त, 2018 में संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी तथा पीड़िता ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर आत्मदाह करने की कोशिश की थी। 

पार्टी में उभरने वाले ऐसे ‘स्कैंडलों’ से निश्चय ही इसकी छवि को आघात लगेगा। अत: इस तरह की बुराइयों को रोकने के लिए तत्काल इसी प्रकार निवारक पग उठाने की पार्टी नेतृत्व को आवश्यकता है।
                                                                                                                                          —विजय कुमार

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.