Sunday, Nov 28, 2021
-->
bjp tapir gao attack congress and said china occupying indian territory since the 80s pragnt

अरुणाचल में चीन ने बसाया गांव, BJP सांसद बोले- कांग्रेस की नीतियों का भुगत रहे खामियाजा

  • Updated on 1/19/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन (China) ने भूटान के बाद अब भारत के अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) की सीमा के अंदर गांव बसा लिया है। चीन की तरफ से नए गांव बसाने पर राजनीति शुरू हो गई है। अरुणाचल प्रदेश के बीजेपी सांसद ने कांग्रेस (Congress) पर हमला बोला है।

चीन में ज्यादा काम, कम सैलरी से परेशान कर्मचारी कर रहे हैं आत्महत्या

कांग्रेस पर बोला हमला
चीन के भारत में अतिक्रमण के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए तापिर गाओ (Tapir Gao) ने न्यूज एजेंसी से कहा, 'चीन 80 के दशक से जमीन पर कब्ज करके बैठा है, उसने लोंग्जू से माजा तक सड़क बनाई। आर्मी इंटेलिजेंस ने उस समय की भारत सरकार को रिपोर्ट जरूर दी होगी। उस समय कांग्रेस ने कार्रवाई क्यों नहीं की? वहां(अरुणाचल प्रदेश) सिर्फ गांव ही नहीं है वहां पर मिलिट्री बेस, हाइड्रो पावर भी बनाए हैं।'

SC की कमेटी के सामने जाने से टिकैत का इनकार, कहा- जिस रास्ते आया वहीं से वापस हो कृषि कानून

राजीव गांधी के शासन के दौरान हुआ ये
उन्होंने कहा, 'राजीव गांधी के शासन के दौरान, चीन ने तवांग में सुमदोरोंग चू घाटी पर कब्जा कर लिया। तत्कालीन सेना प्रमुख ने एक ऑपरेशन की योजना बनाई, लेकिन राजीव गांधी ने उन्हें पीएलए को वापस धकेलने की अनुमति से इनकार कर दिया।' 

जानिए कौन हैं जो बाइडेन की टीम मे शामिल होने वाली भारतीय मूल निवासी समीरा फाजिली

चीन का अतिक्रमण कांग्रेस से विरासत में मिला
बीजेपी सांसद ने कहा, 'कांग्रेस शासन के दौरान सरकार की एक गलत नीति थी। कांग्रेस सरकारों ने सीमा तक सड़कों का निर्माण नहीं किया। इससे 3-4 किमी तक बफर जोन छूट गया। अब इस इलाके पर चीन ने कब्जा कर लिया।' उन्होंने कहा कि चीन की तरफ से नए गांवों का निर्माण कोई नई बात नहीं है, यह सब कांग्रेस से विरासत में मिला है।'

प. बंगाल: शुभेंदु ने स्वीकारी TMC की चुनौती, कहा- 50 हजार वोटों से हारेंगी ममता

बीसा और माजा के बीच सैन्य बेस बनाने का किया जिक्र
तापिर गाओ ने कहा, '80 के दशक से आज तक, वे (चीन) इस क्षेत्र पर कब्जा कर रहे हैं और गांवों का निर्माण कोई नई बात नहीं है। उन्होंने पहले से ही भारतीय क्षेत्र के तहत मैकमोहन लाइन के अंदर स्थित बीसा और माजा के बीच सैन्य अड्डे का निर्माण किया। गाओ ने आगे कहा, 'आज उन्होंने गांव बनाया होगा और भी चीजें बनाते जाएंगे अगर हम इसका कोई हल नहीं निकालते। भारत सरकार चीन की सरकार के साथ चर्चा करे और मेक मैकमोहन लाइन के आधार पर हम सीमा-निर्धारण करें और एग्रीमेंट करें।'

गुजरात: फुटपाथ पर सो रहे 15 प्रवासी मजदूरों को ट्रक ने कुचला, PM मोदी ने जताया दुख

चिदंबरम ने सरकार पर दागे सवाल
इससे पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने भाजपा सांसद तापिर गाओ के दावों पर मोदी सरकार से जवाब मांगा जिसमें गाओ ने कहा था कि चीन ने अरुणाचल प्रदेश के भीतर विवादास्पद क्षेत्र में सौ घरों के एक गांव का निर्माण कर लिया है।

अरुणाचल में बसा 'चीनी गांव'? चिदंबरम ने पूछा- क्या सरकार चीन को फिर क्लीन चिट देगी?

कांग्रेस नेता ने किया ट्वीट
चिदंबरम ने ट्वीट कर लिखा, 'भाजपा से संबंध रखने वाले सांसद तपीर गाओ ने आरोप लगाया है कि अरुणाचल प्रदेश में भारतीय क्षेत्र के भीतर 'विवादित क्षेत्र' में, चीनियों ने पिछले साल में 100-घर गांव, एक बाजार और दो-लेन की सड़क का निर्माण किया है।' 

केंद्र सरकार ने कृषि कानूनों को लेकर किसानों के साथ आज होने वाली 10वें दौर की बैठक टाली

क्या सरकार चीन को फिर क्लीन चिट देगी?- चिदंबरम
उन्होंने अन्य ट्वीट में लिखा, 'यदि यह सच है, तो यह स्पष्ट है कि चीनियों ने विवादित क्षेत्र को चीनी नागरिकों के स्थायी बंदोबस्त में बदलकर यथास्थिति बदल दी है। इन चौंकाने वाले तथ्यों के बारे में सरकार का क्या कहना है?' वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने पूछा, 'क्या सरकार चीन को एक और क्लीन चिट देगी? या सरकार स्पष्टीकरण देने के लिए पिछली सरकारों पर दोषारोपण करेगी?' गौरतलब है कि भारतीय राज्य अरुणाचल प्रदेश को चीन अपना क्षेत्र मानता है।

अमेरिका में जो बिडेन के शपथ ग्रहण से पहले कैपिटल बिल्डिंग के पास लगी आग, लगाया lockdown

अरुणाचल प्रदेश में भारतीय जमीन पर चीन ने बसाया गांव
चीन ने भूटान के बाद अब भारत के अरुणाचल प्रदेश की सीमा के अंदर गांव बसा लिया है। इस गांव में करीब 101 घर भी बनाए गए हैं। यह गांव अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक भारतीय सीमा के करीब 4.5 किमी अंदर स्थित है। इस गांव को त्सारी चू गांव के अंदर बसाया गया है। यह गांव अरुणाचल प्रदेश के ऊपरी सुबनसिरी जिले में स्थित है। चीन का यह गांव भारत की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बन गया है।

बिहार में आज नए मंत्रियों के नाम पर लग सकती है अंतिम मुहर, मंत्रिमंडल का जल्द होगा विस्तार

एक टीवी चैनल का सेटेलाइट तस्वीरों के आधार पर दावा
एक टीवी चैनल की खबर के मुताबिक ऊपरी सुबनसिरी जिला भारत और चीन के बीच लंबे समय से विवाद का केंद्र रहा है और इसको लेकर सशस्त्र संघर्ष भी हो चुका है। रिपोर्ट में सैटेलाइट तस्वीरों को कई विशेषज्ञों को दिखाया गया है और उन्होंने चीनी गांव होने की पुष्टि की है। चीन ने इस गांव का ऐसे समय पर निर्माण किया है जब पश्चिम सैक्टर स्थित लद्दाख में भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने हैं। ताजा सैटेलाइट इमेज 1 नवम्बर 2020 की है जिसमें गांव नजर आ रहा है।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.