Saturday, Jan 28, 2023
-->
bjp targets kharge for ravana remark for modi congress retaliates

मोदी के लिए ‘रावण' वाली टिप्पणी पर BJP ने साधा खरगे पर निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवार

  • Updated on 11/29/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे के गुजरात विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बारे में ‘रावण' वाली टिप्पणी को लेकर सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रमुख विपक्षी दल के बीच मंगलवार को राजनीतिक जंग छिड़ गई। भाजपा ने इसे हर गुजराती का अपमान करार देते हुए जनता से इसका बदला लोकतांत्रिक तरीके से लेने की अपील की वहीं कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा कि खरगे पर भाजपा का हमला उसकी ‘दलित विरोधी मानसिकता' का दर्शाता है। उल्लेखनीय है कि अहमदाबाद के बेहरामपुरा में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा द्वारा नगर निकाय, नगर निगम और विधानसभा तक के चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर वोट मांगे जाने को लेकर खरगे ने सोमवार को तंज कसा था।

भाजपा द्वारा नगरपालिका चुनाव में भी मोदी के नाम पर वोट मांगे जाने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा था, ‘‘क्या मोदी यहां आकर नगरपालिका का काम करने वाले हैं? क्या मोदी आकर यहां मुसीबत में आपकी मदद करने वाले हैं? अरे, आप तो प्रधानमंत्री हो। आपको काम दिया गया है। वह काम करो।'' उन्होंने कहा, ‘‘वह छोड़कर नगर निगम चुनाव, एमएलए इलेक्शन... एमपी इलेक्शन... चूंकि उनको प्रधानमंत्री बनना है, तो फिरते रहते हैं... लेकिन हर वक्त अपनी ही बात करते हैं। आप किसी को मत देखो, मोदी को देखकर वोट दो। भाई तुम्हारी सूरत को कितनी बार देखना। नगर निगम में भी तुम्हारी सूरत देखना, एमएलए इलेक्शन में भी तुम्हारी सूरत देखना... एमपी इलेक्शन में भी तुम्हारी सूरत...हर जगह...कितने हैं भाई...क्या आपके रावण के जैसा सौ मुख हैं। क्या है?...समझ में नहीं आता मुझे।''

इस टिप्पणी पर कड़ी आपत्ति जताते हुए मुख्यमंत्री पटेल ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘किसी भी विकास के एजेंडे और लोगों के समर्थन के बिना, कांग्रेस गुजरात और गुजरातियों को गाली देने पर उतारू है।'' पटेल ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री के खिलाफ खरगे द्वारा दिया गया बयान गुजरातियों के प्रति उनकी नफरत का प्रमाण है। गुजरात के लोग इस बार भी उन्हें इस तरह के व्यवहार के लिए खारिज कर देंगे।'' भाजपा शासित गुजरात की 182 सदस्यीय विधानसभा के लिए दो चरणों में एक और पांच दिसंबर को मतदान होना है। प्रधानमंत्री मोदी भाजपा के उम्मीदवारों के लिए बड़े पैमाने पर प्रचार कर रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने यहां भाजपा मुख्यालय में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा प्रधानमंत्री के लिए इस प्रकार की भाषा का प्रयोग करना, वह भी ‘गुजराती सपूत' के लिए करना उचित नहीं है।

 

उन्होंने कहा, ‘‘यह निंदनीय है और कहीं ना कहीं और यह कांग्रेस की मानसिकता को दर्शाता है।'' कांग्रेस अध्यक्ष की उक्त टिप्पणी को हर गुजराती और गुजरात का अपमान करार देते हुए पात्रा ने दावा किया कि उन्होंने पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के कहने पर प्रधानमंत्री के खिलाफ इस शब्द का इस्तेमाल किया है। उन्होंने कहा, ‘‘इसके लिए कांग्रेस को आईना दिखाने का काम गुजरात की जनता करेगी। प्रत्येक गुजराती से हम ये अपील करते हैं कि जिस कांग्रेस नेता ने... गुजरात के बेटे के खिलाफ, गुजरात के सम्मान के खिलाफ, ऐसे शब्दों का प्रयोग किया है, गुजरात उनको सबक सिखाए। आपको लोकतांत्रिक तरीके से इसका बदला लेना है।''

भाजपा प्रवक्ता ने दावा किया कि गांधी परिवार प्रधानमंत्री मोदी से नफरत करता है और इसीलिए सोनिया गांधी ने उन्हें ‘मौत का सौदागर' कहा था और अन्य कांग्रेसी नेताओं ने लगातार उनके खिलाफ अपमानजनक टिप्पणियां कीं। दूसरी तरफ, कांग्रेस ने मंगलवार को आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी के नेता अमित मालवीय ने उसके (कांग्रेस के) अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को ‘फ्रिंज' (अराजक) कहकर दलित विरोधी विषवमन किया है जो भाजपा की मानसिकता को दिखाता है।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने मालवीय के एक ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, ‘‘वे (भाजपा) इस तथ्य को पचा क्यों नहीं पा रहे हैं कि एक दलित कांग्रेस का निर्वाचित अध्यक्ष बन गया? उन्हें ‘फ्रिंज' कहना यह दिखाता है कि आप और आपकी पार्टी दलितों के बारे में क्या सोचती है? विपक्षी पार्टी की एक अन्य प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, ‘‘आपके पास यह दुस्साहस है कि एक वंचित पृष्ठभूमि से आने वाले और पिछले 55 वर्षों से चुनाव जीत रहे व्यक्ति को ‘फ्रिंज' कहा जाए। हमें कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर खरगे जी पर गर्व है।''

उन्होंने कहा, ‘‘अब समय है कि आप लोग दलित विरोधी विषवमन बंद करिए। आपकी और फर्जी खबरें फैलाने वाली आपकी ब्रिगेड ‘फ्रिंज' है।'' इससे पहले, मालवीय ने खरगे के एक भाषण से जुड़ा वीडियो साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘गुजरात चुनाव में मुकाबला करने में असमर्थ रहने के बाद अब ‘फ्रिंज' तक पहुंच चुके, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे शब्दों पर अपना नियंत्रण खो बैठे और प्रधानमंत्री को ‘रावण' कह दिया।'' उन्होंने आरोप लगाया कि ‘मौत का सौदागर' से लेकर ‘रावण' तक, कांग्रेस गुजरात और उसके बेटे का अपमान करना जारी रखे हुए है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.