Tuesday, Jul 05, 2022
-->
bjp to attend nitish kumar''''s all-party meeting on caste census kmbsnt

जातिगत जनगणना पर नीतीश कुमार की सर्वदलीय बैठक में शामिल होगी बीजेपी

  • Updated on 5/26/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जातिगत जनगणना को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक सर्वदलीय बैठक बुलाई है। इस बैठक में बीजेपी भी शामिल होने वाली है। 1 जून को राज्य स्तरीय जातिगत जनगणना के तौर-तरीकों पर चर्चा करने के लिए ये बैठक बुलाई गई है।

इससे पहले राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने 10 मई को जनगणना नहीं होने पर पटना से दिल्ली तक पैदल मार्च निकालने की धमकी दी थी। इसके बाद 11 मई को इस मुद्दे पर तेजस्वी ने नीतीश कुमार से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद नीतीश ने जातिगत जनगणना को लेकर सर्वदलीय बैठक बुलाने का ऐलान किया।

राजद और जदयू दोनो ही दल कई सालों से जातिगत जनगणना की अपनी मांग को लेकर मुखर रहे हैं। केंद्र में पिछली कांग्रेस के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार ने 2010 में राष्ट्रीय स्तर पर जातिगत जनगणना की मांग पर सहमति जताई थी, लेकिन पिछले दशक के दौरान एकत्र किए गए आंकड़ों को पर आगे कभी काम नहीं किया जा सका। 

जातिगत जनगणना के डेटा को सार्वजनिक करने के लिए वर्षों की मांग के बाद राजद और जदयू ने हाल ही में इसे राज्य स्तर पर करने के विचार का समर्थन किया है। उन्होंने तर्क दिया है कि जातियों की गिनती इस बात का सही आकलन करेगी कि उन्हें आरक्षण कोटा से कैसे फायदा हुआ है।

सत्तारूढ़ एनडीए के सहयोगियों ने जातिगत जनगणना को रोकने के लिए बीजेपी की आलोचना की थी है। नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) के नेता उपेंद्र कुशवाहा ने जाति जनगणना में देरी के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया है।एनडीए के सदस्य हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने भी इस मामले में बीजेपी को जिम्मेदार ठहराया है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.