bjp will not project cm face in delhi elections

बिना ‘सीएम-फेस’ प्रोजेक्ट किए ही, दिल्ली विधानसभा चुनाव में उतरेगी BJP

  • Updated on 9/11/2019

नई दिल्ली/निशांत राघव। विधानसभा चुनाव (Assembly elections) में भले ही अभी समय शेष है, लेकिन पार्टी आलाकमान ने लोकसभा की तर्ज पर ही दिल्ली चुनाव (Delhi Election) में प्रधानमंत्री मोदी (Prime Minister Modi) और उनके जनहित से जुड़े कार्य को लेकर चुनाव लड़ने पर मंथन शुरू कर दिया है। माना जा रहा है कि पार्टी इस बार चुनावों में कोई भी सीएम फेस (CM FACE) प्रोजेक्ट (Project) नहीं करेगी और पुरानी परिपाटी से अलग हटकर नई नीति तय करेगी। इसके लिए बिना सीएम फेस के प्रदेश भाजपा  (BJP)इकाई विधानसभा चुनाव लड़ाने में अपनी सक्रिय भूमिका निभाएगी।

जगन मोहन रेड्डी ने अपने मंत्रिमंडल में पांच उप मुख्यमंत्रियों को जगह दी

उल्लेखनीय है कि दिल्ली विधानसभा चुनावों में भाजपा हर बार सीएम फेस प्रोजेक्ट करती रही है। इसका खामियाजा भी पिछले चुनावों में जमकर सामने आ चुका है। जिसमें यकायक पार्टी ने पूर्व महिला आईपीएस (IPS) किरण बेदी (kiran bedi) को चुनाव में सीएम चेहरे के तौर पर उतारा था। जिसके बाद पार्टी केवल तीन सीटों पर ही सिमट गई थी।

आंध्रप्रदेशः टीडीपी के 18 विधायकों के बीजेपी में जल्द शामिल होने के सुनील देवधर ने दिये संकेत

दरअसल पार्टी की प्रदेश संगठनात्मक बैठक में कार्यकर्ताओं ने भी यह इच्छा जाहिर की है कि दिल्ली में चुनाव प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर लड़ना बेहतर होगा। जबकि आम आदमी पार्टी  (Aam aadmi party) लगातार इस प्रयास में जुटी है कि भाजपा अपने नेताओं में से किसी को सीएम फेस के रूप में प्रचारित करे। इसके लिए आप की तरफ से प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी (Manoj tiwari), सांसद विजय गोयल (Vijay Goyal) व नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता (Vijendra Gupta) का नाम लगातार उछाला भी जा रहा है। सूत्रों की मानें तो केंद्रीय समिति भी कार्यकर्ताओं की इच्छा पर ही विचार कर रही है। 

'दिल्ली में 25 प्रतिशत कम हुआ प्रदूषण', CM केजरीवाल ने निगम और केंद्र को भी दिया धन्यवाद

उधर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी भी मानते हैं कि जरूरी नहीं कि विधानसभा चुनावों में पार्टी किसी को सीएम फेस के तौर पर प्रोजेक्ट करे, संभव है कि प्रदेश इकाई ही दिल्ली में चुनाव लड़ाए। जैसा अन्य राज्यों में किया गया है और भाजपा की जीत के बाद विजयी विधायक अपना नेता चुनें। 

प्रदूषण को लेकर गोयल का केजरीवाल पर प्रहार, कहा- एयर प्यूरीफायर खरीदने को मजबूर

इन राज्यों में यह फार्मूला उत्तर प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड सहित कई राज्यों में सफल रहा है यह फार्मूला  बिना सीएम फेस घोषित किए, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे और उनके काम पर इन राज्यों में लड़ा था चुनाव।

दिल्ली में पिछले 21 वर्ष से पार्टी है सत्ता से दूर

  •  पिछले तीन विधानसभा चुनावों में भाजपा ने किया है सीएम फेस प्रोजेक्ट 
  •  प्रो.विजय कुमार मल्होत्रा, डा.हर्षवर्धन और किरण बेदी
  •  2008 में अंतिम समय में पार्टी ने किया था प्रो. विजय कुमार मल्होत्रा को पार्टी सीएम फेस घोषित
  •  उस समय डा.हर्षवर्धन थे पार्टी प्रदेश अध्यक्ष, कार्यकर्ता उनके जरिये अधिक बेहतर स्थिति मान रहे थे
  •  2013 में डा.हर्षवर्धन थे सीएम फेस, कुछ सीटों से पिछड़ गई थी भाजपा
  •  2015 में किरण बेदी को सीएम फेस प्रोजेक्ट करना पड़ा था पार्टी को खासा महंगा

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.