Monday, Jun 27, 2022
-->
bjps-focus-on-west-bengal-after-bihar-churning-begins-in-the-party-albsnt

बिहार के बाद पश्चिम बंगाल पर अब टिकी बीजेपी की नजर, पार्टी में मंथन शुरु

  • Updated on 11/11/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। भाजपा बिहार चुनाव में सफलता मिलने के बाद अगले साल होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के लिए अपनी रणनीति को अंतिम रूप दे रही है। मालूम हो कि बिहार विधानसभा चुनाव के मंगलवार को घोषित नतीजों के मुताबिक राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को 243 सदस्यीय सदन में 125 सीटों पर जीत मिली है जिनमें से 74 सीटों के साथ भाजपा राज्य में दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी है जबकि सहयोगी जदयू ने 43 सीटों पर जीत दर्ज की है।  

  सही वक्त पर दुश्मन को दोस्त और दोस्त को दुश्मन बनाने में माहिर हैं नीतीश

सूत्रों की मानें तो भगवा पार्टी ने पश्चिम बंगाल की 294 सदस्यी विधानसभा में 200 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करने का लक्ष्य तय किया है। माना जा रहा है कि बिहार चुनाव होने के बाद अब पार्टी का पूरा ध्यान पश्चिम बंगाल पर होगा। जहां से 42 लोकसभा की सीटें है। हालांकि पिछले लोकसभा चुनाव में 42 में से 18 सीटों को जीतकर भाजपा ने पश्चिम बंगाल में गहरी पैठ बना ली है।

Bihar Election: बीजेपी के 22 बागियों को चिराग ने दिया था टिकट, फिर भी LJP का नहीं हो सका भला

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने जोर देकर कहा कि पश्चिम बंगाल में पार्टी की जीत बड़ी होगी और वह चुनाव में दो तिहाई बहुमत हासिल करेगी। उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की जनता तृणमूल कांग्रेस के कुशासन से उब चुकी है और अब वे बदलाव चाहते हैं। राज्य इकाई के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने उनका समर्थन करते हुए कहा कि बिहार के बाद भाजपा के लिए पश्चिम बंगाल होगा। उन्होंने कहा कि पड़ोसी राज्य बिहार में भगवा की लहर थी और यह तृणमूल की पश्चिम बंगाल सरकार का भी सफाया कर देगी। दोनों राज्यों में बस इतना अंतर होगा कि बिहार में हम करीब 15 साल से सत्ता में है जबकि पश्चिम बंगाल में हम चुनौती दे रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.