Friday, Dec 09, 2022
-->
bjym attack on rahul gandhi tweet says nehru manmohan singh pm narendra modi pragnt

राहुल पर BJP का तंज, कहा- नेहरू- मनमोहन नहीं बल्कि नरेंद्र मोदी हैं देश के PM

  • Updated on 6/17/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बीजेपी (BJP) के संगठन भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) ने बुधवार को राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के उस सवाल पर कटाक्ष किया है जिसमें उन्होंने कहा कि लद्दाख (Ladakh) की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों के शहीद होने की पृष्ठभूमि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) चुप क्यों हैं।

चीन सीमा पर तनाव के बीच PM मोदी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, 21 को राष्ट्र के नाम संबोधन

देश के PM नरेंद्र मोदी हैं मनमोहन नहीं
भाजयुमो ने कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए कहा, 'राहुल गांधी शायद भूल गए हैं कि हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं मनमोहन सिंह नहीं।' उन्होंने आगे लिखा, 'पीएम मोदी ने हमेशा उचित समय पर 130 करोड़ भारतीयों से बात की है। इसके साथ ही उन्होंने जवाहरलाल नेहरू को 'मूल पापी' बताते हुए कहा कि उन्होंने सिर्फ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में स्थाई सदस्यता पाने के लिए भारत पर चीन का पक्ष लिया।

राहुल ने पूछा सवाल- आखिर क्यों चुप हैं पीएम? चीन की हिम्मत कैसे हुई हमारे सैनिकों को मारने की?

राहुल गांधी ने क्या कहा?
गैरतलब है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारत-चीन के बीच बढ़ते तनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि आखिर मामला क्या है? पीएम मोदी इस मामले पर चुप क्यों हैं? राहुल गांधी ने एक वीडियो जारी कर कहा, 'दो दिन पहले हिंदुस्तान के 20 सैनिक शहीद हुए। उन्हें उनके परिवारों से छीना गया है। चीन ने हमारी जमीन हड़पी है। प्रधानमंत्री जी, आप चुप क्यों हैं? आप कहां छिप गए हैं?' कांग्रेस नेता ने कहा, 'प्रधानमंत्री जी, आप बाहर आइए। पूरा देश, हम सब आपके साथ खड़े हैं। देश को सच्चाई बताइए। डरिए मत।'

शिवपाल यादव भारत-चीन विवाद पर बोले- नेताजी ने हमेशा चेताया, लेकिन सरकारें रहीं उदासीन

प्रधानमंत्री चुप क्यों? -राहुल गांधी
वहीं इससे पहले, उन्होंने ट्वीट किया, 'प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं? वह छिपे हुए क्यों हैं? अब बहुत हो चुका। हमें यह जानने की जरूरत है कि क्या हुआ है। हमारे सैनिकों की हत्या करने की चीन की हिम्मत कैसे हुई? हमारी भूमि पर कब्जा करने की उनकी हिम्मत कैसे हुई?' गौरतलब है कि लद्दाख की गलवान घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए। सेना ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

LAC विवाद पर चीन ने कहा- हम बातचीत के जरिए चाहते हैं समाधान

चीनी सैनिकों के हमले में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद
बताते चले कि भारत को चीन से 45 साल बाद फिर धोखा दिया है। सोमवार को बातचीत करने की पहल करने गई भारतीय सेना के साथ चीनी सैनिकों की हिंसक झड़प हो गई। गोलीबारी नहीं हुई लेकिन पत्थरों, लाठियों और धारदार चीजों से हमले किए गए। इस हमले के दौरान भारत के एक अधिकारी और 20 जवान शहीद हो गए। जबकि चीन की तरफ से 43 सैनिक मारे जाने की खबर है।

comments

.
.
.
.
.