Wednesday, Dec 01, 2021
-->
black fungus 5126 active cases of black fungus in maharashtra 412 deaths so far prshnt

देश में ब्लैक फंगस का कहर, महाराष्ट्र में 5126 एक्टिव केस, अब तक 412 मौत

  • Updated on 6/8/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कोहराम अब थमने लगा है। लेकिन ब्लैक फंगस का कहर अब भी जारी है। महाराष्ट्र में ब्लैक फंगस के 5126 एक्टिव केस है और इसके कारण अब तक 412 मौतें हो चुकी है। हाल ही में बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा था कि महाराष्ट्र को केंद्र को यह बताने की जरूरत है कि राज्य के मराठवाड़ा क्षेत्र में म्यूकोरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) के मरीज उपचार के लिये जरूरी दवा की कमी के कारण मर रहे हैं।

कोविड-19 महामारी से संबंधित याचिकाओं पर सुनवाई कर ते हुए बॉम्बे हाई कोर्ट ने कहा, मरीजों को रोजाना एक या दो इंजेक्शन दिये जा रहे हैं जबकि उन्हें रोजाना चार से पांच इंजेक्शन दिये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इसके कारण 124 लोगों की जान जा चुकी है। उन्होंने कहा कि आज भी दवा की जितनी जरूरत है उससे 70 प्रतिशत कम आपूर्ति है।

CM उद्धव ठाकरे ने PM मोदी से की मुलाकात, मराठा आरक्षण, जीएसटी के मुद्दे पर हुई चर्चा

ब्लैक फंगस के 28 हजार से ज्यादा मामले
गौरतलब है कि देश के 28 राज्यों में अब तक ब्लैक फंगस के मामले मिल चुके है। कुछ दिन पहले के आंकड़ों के मुताबिक 26 राज्यों में 19 हजार के करीब मामले सामने आए थे वहीं सोमवार को अधिकारियों ने जानकारी दी कि देश के 28 राज्यों में अब तक 28 हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। जबकि करीब 300 मरीजों की मौत होने की जानकारी है।

अधिकारियों ने बताया कि देश में कुल 28,252 मरीज फंगस संक्रमित  हैं जिनमें से 86 फीसदी मरीज कोरोना संक्रमित रहे हैं। वहीं इन मरीजों में 62.3 फीसदी मधुमेह पहले से था। वहीं महाराष्ट्र में सबसे अधिक 6,339 मामले अब तक मिल चुके हैं। जबकि गुजरात में 5,486 लोग फंगस के शिकार हुए।

मिसालः कश्मीर का वेयान बना देश का पहला गांव, जहां सौ फीसदी हुआ टीकाकरण 

दिल्ली में ब्लैक फंगस के बढ़ते मामले
वहीं राजधानी दिल्ली को कोरोना संक्रमण से तो राहत मिलने लगी है, लेकिन ब्लैक फंगस के बढ़ते मामले अब जनता और प्रशासन के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं। अब तक यहां पर ब्लैक फंगस के 1044 मामले सामने आ चुके हैं। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने जानकारी दी है कि अब तक ब्लैक फंगस के शिकार 89 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। वहीं 92 लोग इसे मात देकर ठीक हो चुके हैं।  

लगातार बढ़ रहे ब्लैक फंगस के मामलों के चलते इसकी दवा एम्फोटेरिसिन-बी की भी बाजार में कमी हो गई है। हाल ही में दिल्ली हाईकोर्ट ने इस मामले पर सरकार को कड़े निर्णय लेने के निर्देश दिए हैं। कोर्ट ने ब्लैक फंगस के शिकार रोगियों के उपचार में उपयोगी दवा के वितरण पर केंद्र और दिल्ली सरकार से नीति बनाने को कहा है। 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.