Friday, Feb 26, 2021
-->
blue-moon-today-know-what-is-blue-moon-and-when-can-it-be-seen-in-india-prsgnt

आज आसमान में दिखेगा अद्भुत नजारा, जानिए क्या होता है ब्लू मून? भारत में इस समय आएगा नजर...

  • Updated on 10/31/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चांद-सितारों में रूचि लेने वालों के लिए आज शनिवार की रात एक अद्भुत आसमान में दिखाई देने जा रहा है। आज आसमान में चमकने वाला चांद ब्लू होगा। ये घटना कई सालों बाद होने जा रही है। ये ब्लू मून यानी नीला चांद 8 बजकर 19 मिनट पर दिखाई देगा। 

वैज्ञानिकों की माने तो यह नजारा 100 सालों में केवल 41 बार दिखाई देता है। शनिवार को होने वाले इस ब्लू मून एक यादगार पल होने जा रहा है इस दौरान आसमान में दुर्भल नजारा देखने को मिलेगा। 

क्या है ब्लू मून
ब्लू मून का मतलब लोग यही समझते आए हैं कि चांद इस दिन नीला हो जाता होगा लेकिन ऐसा नहीं होता। वैज्ञानिक कहते हैं कि एक ही घटना जब दो बार घटित होती है तब इसे ये नाम दिया गया। पूर्णिमा का होना एक माह में एक बार ही होता है लेकिन जब भी ये महीने में दो बार होता है तब इसे नीला चांद या ब्लू मून कहते हैं। सरल भाषा में कहें तो किसी महीनें में जब दो बार पूर्णिमा आती है तब उस दिन को ब्लू मून कहा जाता है। 

चंद्रयान-1 की खोज के 11 साल बाद NASA वैज्ञानिकों को चांद पर मिला पानी, हो सकता है पीने लायक...

क्या है वजह 
वैज्ञानिकों के अनुसार ऐसा बहुत ही कम होता है जब एक ही महीनें में दो बार पूर्णिमा दिखाई देती है। इसका कारण दरअसल यह है कि अंग्रेजी का महीना सामान्यता 30 या 31 दिन का होता है और औसतन हर महीने को 30.5 दिनों में बांटा जाता है, जबकि चांद का महीना 29 दिन, 12 घंटे, 44 मिनट और 38 सेकंडा का होता है। जिसे औसत रूप में 29.5 दिन का भी कहा जाता है। इस तरह एक ही महीने में दो बार पूर्णिमा होना संभव नहीं हो पाता। लेकिन जब ये होता है तो दुर्लभ नजारा होता है।

मंगल ग्रह पर NASA को मिला पानी, जमीन के नीचे मिली तीन पानी की झीलें

क्या है समय 
वैज्ञानिक मनाते हैं कि करीब 30 महीने बाद साल में एक बार फिर से दूसरे पूर्ण चंद्र की स्थिति बनती है और वही ब्लूब मून कहलाता है। इस बार पहले अक्टूरबर में 1 और 2 तारीख पर पूर्णितमा का चांद नजर आया था और अब एक बार फिर 31 अक्टूमबर को चांद अपने पूरे आकार में दिखाई देगा। भारत में यह नजारा रात 8 बजकर 19 मिनट पर दिखाई देगा। जबकि नॉर्थ अमेरिका, साउथ अमेरिका, अफ्रीका, यूरोप और एशिया के अधिकांश हिस्सोंं में भी चांद दिखाई दे सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.