Saturday, Jul 24, 2021
-->
bombay high court asks bmc to stop sabotage on kangana ranaut bungalow rkdsnt

हाई कोर्ट ने BMC से कंगना के बंगले पर तोड़फोड़ का काम रोकने को कहा

  • Updated on 9/9/2020


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) ने अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के यहां स्थित बंगले में बीएमसी (BMC) द्वारा अवैध निर्माण को तोड़ने की प्रक्रिया पर बुधवार को रोक लगा दी और पूछा कि नगर निकाय के अधिकारी संपत्ति के भीतर क्यों गए, जबकि उसकी मालिक वहां मौजूद नहीं थी?

कोरोना कहर : EPFO ने किया ब्याज का आंशिक भुगतान करने का फैसला

न्यायमूर्ति एस जे काथावाला और न्यायमूर्ति आर आई चागला की खंडपीठ रनौत की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई कर रही थी, जिसमें अभिनेत्री के बंगले में अवैध निर्माण के लिए बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) द्वारा जारी नोटिस को चुनौती दी गई थी। याचिका में तोड़ फोड़ की प्रक्रिया पर रोक लगाने का अनुरोध किया गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने NEET Exams टालने के लिए दायर याचिकाओं को किया खारिज

अदालत ने बीएमसी से जानना चाहा कि उन्होंने कैसे परिसर में प्रवेश किया तथा निर्देश दिया कि वह याचिका के जवाब में हलफनामा दायर करें। अदालत ने मामले को सुनवाई के लिए बृहस्पतिवार को सूचीबद्ध कर दिया। बीएमसी ने रनौत के बांद्रा स्थित बंगले में किए अवैध बदलावों पर बुधवार को तोड़ने की कार्रवाई शुरू की थी। रनौत ने अपने वकील रिकावान सिद्दीकी के जरिए उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया है और मंगलवार को जारी काम रोकने के नोटिस को चुनौती दी है तथा तोडफ़ोड़ की प्रक्रिया पर रोक लगाने का अनुरोध किया है।  

शायर मुनव्वर राना की बेटी सुमैया ने यूपी पुलिस पर लगाया नजरबंद करने का आरोप

याचिका में दलील दी गई है कि याचिकाकर्ता (रनौत) को नोटिस का जवाब देने के लिए पर्याप्त समय नहीं दिया गया और तोडफ़ोड़ की प्रक्रिया जल्दबाजी में और निहित स्वार्थ के साथ शुरू की गई है। याचिका में कहा गया है कि बीएमसी का नोटिस कानून की नजर से गलत और मनमाना है। अभिनेत्री ने निर्माण शुरू कराने से पहले महानगरपालिका से सभी जरूरी मंजूरी ले ली थी। बीएमसी ने मंगलवार को एक स्थानीय अदालत में केविएट दायर कर कहा था कि अगर रनौत काम रोकने के नोटिस को चुनौती देती हैं तो उन्हें पहले सुना जाए। 

कंगना के बंगले में अवैध निर्माण ध्वस्त करने पर BJP ने साधा शिवसेना पर निशाना

एक अधिकारी ने बताया कि बुधवार को तोडफ़ोड़ का काम शुरू करने से पहले बीएमसी ने उनके बंगले के बाहर दूसरा नोटिस चिपकाया था, जिसमें उन्हें नगर निकाय की ओर से की जा रही कार्रवाई की सूचना दी गई है। रनौत ने हाल में मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से की है, जिसपर सत्तारूढ़ शिवसेना ने नाराजगी जताई। बीएमसी पर शिवसेना के नियंत्रण में है।      

चीनी सैनिकों ने पूर्वी लद्दाख में भारतीय ठिकाने के करीब आने की कोशिश की : सेना

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.