Monday, Dec 06, 2021
-->
bombay high court said after stan swamy death great respect for his works rkdsnt

स्टैन स्वामी के निधन के बाद हाई कोर्ट ने कहा- उनके कार्यों के लिए ‘बहुत सम्मान’ है

  • Updated on 7/19/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। एल्गार परिषद् - माओवादी संबंध मामले में दिवंगत स्टैन स्वामी की याचिका पर सुनवाई करते हुए बंबई उच्च न्यायालय ने सोमवार को कहा कि वह शानदार व्यक्ति थे और अदालत को उनके काम के प्रति ‘‘बहुत सम्मान’’ है।   

जस्टिस एस. एस. शिंदे और जस्टिस एन. जे. जामदार की पीठ ने यह टिप्पणी तब की जब अदालत को सूचित किया गया कि 84 वर्षीय स्वामी का यहां एके होली फैमिली अस्पताल में हृदय गति रूकने से निधन हो गया। इसी पीठ ने पांच जुलाई को स्वामी की चिकित्सा जमानत याचिका पर सुनवाई की थी।        

EVM की जगह मतपत्र से चुनाव कराने की मांग करने वाली याचिका पर सुनवाई अगस्त में

 जस्टिस शिंदे ने कहा, ‘‘सामान्य तौर पर हमारे पास वक्त नहीं होता लेकिन मैंने अंतिम संस्कार (स्वामी का) देखा। यह बहुत सम्मानजनक था।’’   उन्होंने कहा, ‘‘काफी शानदार व्यक्ति थे। उन्होंने समाज के लिए काम किया था। उनके कार्य के प्रति बहुत सम्मान है। कानूनन, उनके खिलाफ जो भी है वह अलग मामला है।’’   

पीठ ने स्वामी के निधन के बाद राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) और अदालत की हुई आलोचनाओं का भी जिक्र किया। इसने दुख जताया कि किस तरह कई मामलों में जेल में बंद विचाराधीन कैदी सुनवाई शुरू होने का इंतजार करते हैं।   

पंजाब कांग्रेस में कलह खत्म, सिद्धू को बनाया गया प्रदेश अध्यक्ष

      बहरहाल, पीठ ने कहा कि उसने स्वामी की चिकित्सा जमानत याचिका पर निष्पक्ष सुनवाई सुनिश्चित की थी। साथ ही एल्गार-माओवादी संबंध पर उनके सह-आरोपियों की याचिकाओं पर भी निष्पक्ष सुनवाई हुई। अदालत ने स्वामी के वकील मिहिर देसाई से कहा, ‘‘आप 28 मई को उनकी चिकित्सा जमानत याचिका के साथ आए और हमने हर बार हर आग्रह को स्वीकार किया।’’       

मानसून सत्र को लेकर आंदोलित किसानों ने विपक्षी सांसदों को जारी किया ‘मतदाता व्हिप’

   उच्च न्यायालय ने कहा कि कोई इस बात का जिक्र नहीं कर रहा है कि इस अदालत ने काफी विरोध के बावजूद वरवर राव (सह-आरोपी) को जमानत दी। उच्च न्यायालय द्वारा निष्पक्ष आदेश पारित करने की सोमवार को की गई टिप्पणी के बाद देसाई ने कहा, ‘‘मैं ऑन रिकॉर्ड कहता हूं कि इस मामले की सुनवाई करने वाली उच्च न्यायालय की विभिन्न पीठ से मैं काफी खुश हूं।’’      

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.