Wednesday, Jan 26, 2022
-->
Border dispute Assam and Mizoram Chief Secretary meeting with Union Home Secretary today

सीमा विवाद: केंद्रीय गृह सचिव के साथ असम और मिजोरम के मुख्य सचिव की आज बैठक

  • Updated on 7/28/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। असम और मिजोरम सीमा पर हुई हिंसा को लेकर दोनों राज्यों के मुख्य सचिवों  और पुलिस महानिदेशकों को केंद्र ने बातचीत के लिए बुलाया है। दोनों राज्यों के बीच चल रहे विवाद के हल के लिए केंद्रिय गृह सचिव अजय भल्ला की अध्यक्षता में बैठक बुलाई गई है। बैठक में असम मिजोरम में अचानक भड़की हिंसा पर चर्चा की जाएगी। जिसमें मुख्य सचिवों और डीजीपी से शांति फॉर्मूले पर काम करने के लिए कहा जाएगा, ताकि दो राज्यों की सीमा पर इस तरह की हिंसा फिर न दोहराई जाए।

जम्मू-कश्मीर: एक गांव में बादल फटने से पांच लोगों की मौत, 25 से अधिक लापता

पांच पुलिसकर्मियों की मौत
बता दें कि असम और मिजोरम के बीच सीमा विवाद के सोमवार को अचानक हिंसक संघर्ष में तब्दील हो जाने से कम से कम पांच पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और एक पुलिस अधीक्षक समेत 60 अन्य घायल हो गए। सीमा विवाद को लेकर अब असम सरकार सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगी। राज्य के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने कहा कि मैं जमीन की एक इंच भी किसी को नहीं दे सकता, अगर कल संसद एक कानून बना दे कि बराक वैली को मिजोरम को दिया जाए, तो मुझे इसमें कोई आपत्ति नहीं है। लेकिन जब तक संसद यह फैसला नहीं लेती, मैं किसी भी व्यक्ति को असम की जमीन नहीं लेने दूंगा।

अखिलेश का फर्जी Twitter अकाउंट बनाकर नफरत फैलाने वालों के खिलाफ केस दर्ज

 अंतर-राज्यीय सीमा
दरअसल असम के बराक घाटी के जिले कछार, करीमगंज और हैलाकांडी मिजोरम के तीन जिलों आइजोल, कोलासिब और मामित के साथ 164 किलोमीटर लंबी सीमा साझा करते हैं। एक क्षेत्रीय विवाद के बाद, इस साल अगस्त 2020 और फरवरी में अंतर-राज्यीय सीमा पर झड़पें हुईं। पूर्व में असम के मुख्यमंत्री ने ट्विटर पर घोषणा की थी कि कछार जिले में अंतर-राज्यीय सीमा पर मिजोरम की ओर से ''उपद्रवियों'' द्वारा की गई गोलीबारी में असम पुलिस के छह जवान मारे गए।

हालांकि, मिजोरम के गृह मंत्री लालचमलियाना ने एक बयान में कहा कि असम के 200 से अधिक पुलिसकर्मियों ने सीआरपीएफ की चौकी पार कर आगजनी, हमला और निहत्थे लोगों पर गोलीबारी की, जिसके बाद मिजोरम पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की। असम पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सीमा पार से उपद्रवियों ने उस समय अचानक गोलीबारी शुरू कर दी, जब दोनों पक्षों के नागरिक अधिकारी मतभेदों को सुलझाने के लिए बातचीत कर रहे थे।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.