विजय माल्या को भारत वापस लाने का रास्ता साफ, UK से मिली मंजूरी

  • Updated on 2/4/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बैंक डिफाल्टर और विदेश भागने वाले विजय माल्या को देश वापस लाने का रास्ता साफ हो गया है। बहुत जल्द ही देश छोड़कर लंदन भागने वाला माल्या भारत वापस लाया जा सकता है। यूके की सरकार ने माल्या के प्रत्यापर्ण की मंजूरी दे दी है। 

भारत सरकार को मिली इस सफलता को मोदी सरकार का 'विनिंग सिक्सर' माना जा रहा है। लोकसभा चुनाव से पहले केंद्र सरकार को मिली इस सफलता से जरुर भाजपा को फायदा होगा। बता दें कि प्रत्यापर्ण से पहले विजय माल्या ने यूके के कोर्ट से 14 दिन की मोहलत मांगी है। जिसके बाद यह साफ हो गया है कि फरवरी महीने के अंत तक ही माल्या को भारत वापस आ सकता है।

#EVM मुद्दे पर चुनाव आयोग पहुंचे विपक्षी दलों के नेता, रखी अहम मांग

मालूम हो कि भारतीय बैंकों से धोखाधड़ी मामले में आरोपी माल्या को लंदन से लाने की कोशिश काफी सालों से की जा रही जिसकी सफलता अब मिलती दिखाई दे रही है। धोखाधड़ी के मामले की जांच के समय ही साल 2016 में माल्या लंदन भाग गया था। माल्या को वापस लाने के लिए मोदी सरकार और जांच एजेंसियों ने लंबी लड़ाई लड़ी। अब साल 2019 में यूके की होम ऑफिस ने भी माल्या के प्रत्यार्पण संबंधी फाइल पर दस्तखत कर दिया है जिसके बाद उसे भारत वापस लाने का रास्ता साफ हो गया है।

हाल ही माल्या ने 1 फरवरी को ट्वीट कर कहा कि, हर सुबह जब मैं सो कर उठता हूं तो रोज खबर पढ़ता हूं की आज श्रृण वसूली अधिकारियों ने एक और संपत्ति जब्त कर ली है। जिनकी कीमत करीब 13 हजार करोड़ रूपये पार कर चुकी है। बैंक का दावा है कि कुल ब्याज 9 हजार करोड़ का है जो अभी समीक्षा का विषय है, यह सिलसिला कहां तक जाएगा?

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.