Sunday, Dec 04, 2022
-->
bsf jawan commits suicide after shooting fellow jawan in west bengal after punjab rkdsnt

BSF जवान ने साथी जवान को गोली मारने के बाद की आत्महत्या

  • Updated on 3/7/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में एक शिविर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान ने सहकर्मी की गोली मारकर हत्या करने के बाद खुद को गोली मार ली, जिससे उसकी भी मौत हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि घटना भारत-बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास काकमारीचर सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) शिविर में तड़के 6 बचकर 45 मिनट पर हुई। शिविर अर्धसैनिक बल के बरहामपुर सेक्टर के अंतर्गत स्थित है, जो राज्य की राजधानी कोलकाता से लगभग 230 किलोमीटर दूर है। 

असम के CM हिमंत बिस्व सरमा के खिलाफ कोर्ट ने दिया FIR दर्ज करने का निर्देश

 

अधिकारियों के अनुसार, दोनों को स्थानीय पुलिस ने तलब किया था, जिसके बाद उनके बीच झड़प हो गई। पंजाब के अमृतसर में एक शिविर में बीएसएफ के पांच कर्मियों के मारे जाने के एक दिन बाद यह घटना सामने आई है। इस घटना में चार जवान और उनपर गोली चलाने वाला जवान भी मारा गया है। अधिकारियों ने कहा कि हेड कांस्टेबल जॉनसन टोप्पो ने कथित तौर पर अपने सहयोगी हेड कांस्टेबल एसजी शेखर को अपनी र्सिवस राइफल से गोली मार दी। अधिकारियों ने कहा कि वे दोनों बल की 117 वीं बटालियन से संबद्ध थे। 

NSE अज्ञात बाबा मामले में पूर्व MD चित्रा रामकृष्ण को CBI हिरासत में भेजा

उन्होंने बताया कि यह घटना तब हुई जब वे सीमा पर रात्रि ड्यूटी खत्म कर अपनी चौकी पर लौटे थे। अधिकारियों ने कहा कि स्थानीय पुलिस ने उन्हें सोमवार सुबह 10 बजे रामनगर पुलिस थाने में पेश होने के लिए समन जारी किया था, जिसके बाद कथित तौर पर दोनों सैनिकों के बीच टकराव हो गया और टोप्पो ने शेखर पर गोली चला दी। मामला पिछले साल सीमा पर एक किसान को कथित तौर पर हिरासत में लेने से संबंधित है। 

अमृतसर शिविर में BSF कर्मी ने की गोलीबारी, 5 जवानों की मौत, जांच शुरू

हालांकि, अधिकारियों ने कहा कि बीएसएफ ने घटना के कारणों का पता लगाने के लिए ‘कोर्ट ऑफ इंक्वायरी’ का आदेश दिया है। पुलिस में मामला भी दर्ज कर लिया गया है। घटनास्थल पर बीएसएफ और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद हैं। अधिकारियों ने बताया कि यह घटना ऐसे दिन हुई है जब बीएसएफ के एक जवान ने पंजाब के अमृतसर में उसके शिविर पर कथित रूप से अंधाधुंध गोलियां चलाईं, जिसमें उसके चार साथियों की मौत हो गई और एक अन्य गंभीर रूप से घायल हो गया। वह शिविर पंजाब में भारत पाकिस्तान सीमा पर स्थित है। 

यशवंत सिन्हा बोले- गंगा का पानी सिर के ऊपर से निकलने लगा तब शुरू हुआ ‘ऑपरेशन गंगा’


 

comments

.
.
.
.
.