Sunday, Aug 01, 2021
-->
bsf-jawan-tej-bahadur-petition-dismissed-from-sc-challenged-pm-varanasi-election-prsgnt

BSF के पूर्व बर्खास्त जवान तेजबहादुर की या‍चिका SC ने की खारिज, PM के निर्वाचन को दी थी चुनौती

  • Updated on 11/24/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी (Varanasi) से पीएम नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) के खिलाफ याचिका लेकर पूर्व बीएसएफ (BSF) जवान तेज बहादुर यादव (tej bahadur yadav) सुप्रीम कोर्ट पहुंच गए थे जिसकी आज सुनवाई हुई। 

सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में इलाहाबाद हाइकोर्ट के फैसले पर मुहर लगते हुए तेजबहादुर की याचिका को खारिज कर दिया है। इससे पहले तेज बहादुर इलाहबाद हाईकोर्ट गए थे जहां कोर्ट ने उनकी याचिका यह कहते हुए खारिज कर दी थी कि न तो वह वाराणसी के वोटर हैं और नहीं पीएम मोदी के खिलाफ उम्मीदवार थे इसलिए उनका चुनाव संबंधी याचिका दायर करने का कोई ओचित्य नहीं बनता है। 

तेजस्वी सूर्या ने ओवैसी को बताया ‘जिन्ना का अवतार’, AIMIM चीफ ने दिया जवाब- इन्हें बिरयानी खिलाओ…

बता दें लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के खिलाफ वाराणसी (Vanarasi) से जवान तेज बहादुर ने पर्चा भरा था, जिसे निर्वाचन आयोग ने गलत जानकारी के अभाव में खारिज कर दिया। जिसके बाद तेज बहादुर ने आरोप लगाया था कि उन्हें साजिश के तहत चुनाव नहीं लड़ने दिया गया, ताकि प्रधानमंत्री आसानी से जीत सके।

ये भी बताते चले कि शुरु में तेजबहादुर ने निर्दलीय के रुप में पर्चा भरा था, बाद में समाजवादी पार्टी (SP) ने उन्हें अपना समर्थन दिया था। लेकिन आखिरी समय पर बाद में उनका पर्चा नहीं भरा जा सका।  

तमिलनाडु में कल दस्तक देगा 'निवार' तूफान, NDRF की 6 टीमों ने संभाला मोर्चा

गौरतलब है कि तेज बहादुर यादव ने सैनिकों को खराब भोजन परोसे जाने का आरोप लगाया था और उसका वीडियो वायरल कर दिया था। विभागीय जांच में बीएसएफ ने उनके आरोपों को आधारहीन मानते हुए नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.