हरियाणा: बसपा ने इनेलो से रिश्ता तोड़ा, BJP के बागी सांसद से किया गठबंधन

  • Updated on 2/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बहुजन समाज पार्टी (BSP) ने शनिवार को हरियाणा के मुख्य विपक्षी दल इनेलो से अपना करीब नौ महीने पुराना गठबंधन तोड़ते हुए एलएसपी से नाता जोडऩे की घोषणा की। एलएसपी भाजपा के बागी सांसद राज कुमार सैनी की पार्टी है।

ओम प्रकाश चौटाला के नेतृत्व वाले इंडियन नेशनल लोक दल (इनेलो) को चौटाला परिवार में चल रही पारिवारिक कलह के बीच जींद उपचुनाव में शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। पार्टी के उम्मीदवार उम्मेद सिंह रेढू की जमानत तक जब्त हो गई।

चीन ने मोदी के अरूणाचल दौरे का किया विरोध, भारत ने भी किया पलटवार

बसपा हरियाणा के प्रभारी मेघराज ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के निर्देशों पर बसपा ने आज इनेलो से गठबंधन खत्म कर दिया और लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी (एसएसपी) से गठबंधन कर लिया।’

मेघराज ने कहा कि इनेलो के साथ नाता तोड़ने का निर्णय मायावती ने हरियाणा के लोगों की मांग पर विचार करने के बाद किया है। उन्होंने कहा, ‘हमारी नेता मायावती ने उन्हें एकसाथ रहने का अवसर दिया था। जब हमने गठबंधन किया था तो इनेलो एक पार्टी थी। किंतु चौटाला की पार्टी में विभाजन के बाद हमें जींद उपचुनाव में उन्हें परखने का मौका मिला’

जनसंख्या नियंत्रण के लिए अधिकतम दो बच्चों का कानून लागू करे सरकार- गिरिराज सिंह

मेघराज ने दावा किया, ‘इनेलो उम्मीदवार रेढू को मिले 3400 वोटों में उनके महज 1000 वोट थे, शेष वोट बसपा के थे। लिहाजा हमने गठबंधन पर पुर्निवचार करने का निर्णय किया। हमारा वोटबैंक परेशान हुआ’ नई व्यवस्था के तहत बसपा और एलएसपी आगामी लोकसभा चुनाव और हरियाणा विधानसभा चुनाव लड़ेगी।

मेघराज ने बताया कि हरियाणा में बसपा लोकसभा की आठ और एलएसपी दो सीटों पर चुनाव लड़ेगी। उन्होंने बताया कि उनकी पार्टी हरियाणा विधानसभा चुनाव में 35 सीटों पर और एलएसपी 55 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी। बसपा ने शुक्रवार को संकेत दिया था कि अगर इनेलो एकजुट रहने में विफल रही तो वह उससे अपनी राहें अलग कर लेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.