Saturday, Sep 19, 2020

Live Updates: Unlock 4- Day 19

Last Updated: Sat Sep 19 2020 09:05 PM

corona virus

Total Cases

5,341,281

Recovered

4,237,955

Deaths

85,915

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA1,145,840
  • ANDHRA PRADESH617,776
  • TAMIL NADU536,477
  • KARNATAKA494,356
  • UTTAR PRADESH348,517
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • NEW DELHI242,899
  • WEST BENGAL215,580
  • BIHAR180,788
  • ODISHA175,550
  • TELANGANA169,169
  • ASSAM148,969
  • KERALA131,027
  • GUJARAT121,930
  • RAJASTHAN109,473
  • HARYANA103,773
  • MADHYA PRADESH97,906
  • PUNJAB90,032
  • CHANDIGARH70,777
  • JAMMU & KASHMIR62,533
  • JHARKHAND56,897
  • CHHATTISGARH52,932
  • UTTARAKHAND27,211
  • GOA26,783
  • TRIPURA21,504
  • PUDUCHERRY18,536
  • HIMACHAL PRADESH9,229
  • MANIPUR7,470
  • NAGALAND4,636
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS3,426
  • MEGHALAYA3,296
  • LADAKH3,177
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2,658
  • SIKKIM1,989
  • DAMAN AND DIU1,381
  • MIZORAM1,333
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
bsp congress merger case back in single bench of rajasthan high court rkdsnt

BSP-कांग्रेस विलय का मामला वापस राजस्थान हाई कोर्ट की सिंगल बैंच में

  • Updated on 8/6/2020


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राजस्थान उच्च न्यायालय की खंडपीठ ने बसपा के 6 विधायकों के कांग्रेस में शामिल होने संबंधी मामले में एकल न्यायाधीश के फैसले के खिलाफ एक भाजपा विधायक और बहुजन समाज पार्टी द्वारा दायर अपीलों का बृहस्पतिवार को निपटारा कर दिया। भाजपा विधायक मदन दिलावर और बसपा के राष्ट्रीय सचिव सतीश मिश्रा ने एकल पीठ के आदेश के खिलाफ अपील करते हुए मंगलवार को खंडपीठ का दरवाजा खटखटाया था। 

बच्ची का यौन शोषण: मालीवाल ने गिरफ्तारी में देरी को लेकर दिल्ली पुलिस पर साधा निशाना

दोनों पक्षों ने इससे पहले विधानसभाध्यक्ष सीपी जोशी के सितंबर 2019 के फैसले को चुनौती देते हुए रिट याचिकाएं दायर की थीं जिसमें बसपा के छह विधायकों को कांग्रेस में विलय करने की अनुमति दी गई थी। जस्टिस महेंद्र कुमार गोयल की एकल पीठ ने विधानसभा अध्यक्ष और सचिव और छह विधायकों को 30 जुलाई को नोटिस जारी किया था तथा उन्हें 11 अगस्त को जवाब प्रस्तुत करने का निर्देश दिया था। 

जम्मू-कश्मीर के नए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा को लेकर उत्साहित हैं BJP नेता

हालांकि पीठ ने कोई अंतरिम राहत प्रदान नहीं की थी और बसपा के छह विधायकों के कांग्रेस विधायकों के रूप में सदन की कार्यवाही में भाग लेने पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था। मुख्य न्यायाधीश इंद्रजीत महंती और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने अपील पर बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष को नोटिस जारी किया था। लेकिन उनकी ओर से कोई जवाब दाखिल नहीं किया गया। उनके वकील कपिल सिब्बल ने अदालत में दलील दी कि खंड पीठ में अपील विचार करने योग्य नहीं है। 

BCCI ने IPL के टाइटल प्रायोजक VIVO को लेकर लिया बड़ा फैसला

सिब्बल ने यह भी कहा कि किसी भी विधायक को नोटिस दिए जाने के लिए विधानसभाध्यक्ष कार्यालय का इस्तेमाल डाकघर के रूप में नहीं किया जा सकता है।  इस पर पीठ ने जैसलमेर के जिला न्यायाधीश के माध्यम से नोटिस भेजने और उन्हें जैसलमेर और बाड़मेर के दो समाचार पत्रों में प्रकाशित करने का निर्देश दिया। पीठ ने कहा कि एकल पीठ 11 अगस्त को भाजपा और बसपा की अपील पर सुनवाई करेगी।

अनुच्छेद 370 हटाते वक्त मोदी सरकार के वायदे मृगतृष्णा साबित हुए: माकपा

 

 

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.