Thursday, Apr 02, 2020
bsp mayawati tweet on central and up government over coronavirus lockdown

कोरोना संकट के बीच मायावती ने गरीबों के लिए सरकार से मांगी मदद

  • Updated on 3/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) से निपटने के लिए भारत (India) में 21 दिन का लॉकडाउन (Lockdown) है। आज लॉकडाउन के दूसरे दिन उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (BSP) की मुखिया मायावती (Mayawati) ने केंद्र व राज्य सरकारों से इस संकट की घड़ी में गरीबों के लिए राहत पैकेज की व्यवस्था की मांग की है।

कोरोना संकट में बोले पीएम मोदी- डॉक्टरों, सेवाकर्मियों का हो सम्मान, 9 गरीब परिवारों को कराएं भोजन

राहत पैकेज का ऐलान करें सरकार
मायावती ने ट्वीट कर कहा, 'देश की 130 करोड़ गरीब/ मेहनतकश जनता पर 21 दिनों के लाॅकडाउन/ कर्फ्यू वाली पाबन्दियों को कड़ाई से लागू करने के बाद खासकर लोगों का पेट भरने अर्थात उनकी रोटी-रोजी की समस्या को दूर करने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा राहत पैकेज की व्यवस्था बहुत ही जरूरी। इसपर तुरन्त ध्यान दें।'

Corona: योगी सरकार का बड़ा ऐलान, इस दिन तक रहेगा UP लॉकडाउन

सरकारी निर्देशों का अनुपालन करें- मायावती
उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में कहा, 'साथ ही इस देशबन्दी में प्राइवेट सेक्टर केे लाॅकडाउन को लेकर उन्हें दी गई विभिन्न रिआयतों के साथ-साथ वहाँ काम करने वाले लोगों को भी महीने का वेतन दिलाने की व्यवस्था केंद्र व राज्य सरकारों को सुनिश्चित करनी चाहिए। लोगों से भी अपील है कि वे सरकारी निर्देशों का अनुपालन करें।'

भारत में लॉकडाउन का दूसरा दिन: जरुरी समान लेने के लिए सड़क पर निकले इक्का दुक्का लोग

गरीब लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था करे सरकार- अखिलेश
कोरोना के मद्देनजर सपा प्रमुख अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने गुरुवार को ट्वीट कर कहा, 'इस कठिन समय में सरकार को तत्काल देश के सभी जन-धन खाताधारकों के बैंक एकांउट में सहायता धनराशि ट्रांसफर करने का प्रबंध करना चाहिए। साथ ही जो लोग रास्तों पर भटक रहे हैं उनके भोजन-पानी, चिकित्सा और सुरक्षित दूरी बनाए रखते हुए रैन-बसेरों का भी इंतजाम सरकार को करना चाहिए।'

Coronavirus: भारत में इस वजह से नहीं बढ़ेगा डेथ रेट, जानिए क्या कहती है नई रिपोर्ट

सपा प्रमुख ने केंद्र और राज्य सरकार से अपील है कि गरीब लोगों के लिए भोजन की व्यवस्था तत्काल करे जिससे वो घास खाने पर मजबूर न हों साथ ही सब्जी जैसी दैनिक उपयोग की चीजों पर पुलिस संयम बरते...।

कांग्रेस ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन का किया सपोर्ट, लेकिन गरीबों की समस्याओं को भी उठाया

भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन
गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मंगलवार को अभूतपूर्व कदम उठाते हुए पूरे देश में 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की थी। साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने देश के लोगों से कोविड-19 की गंभीरता को समझने और घरों में रहने की अपील की। बता दें कि देश में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 612 हो चुकी है, वहीं मरने वालों की संख्या 14 हो गई है, जबकि 42 लोग ठीक हो चुके हैं।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

Coronavirus: भारत में इस वजह से नहीं बढ़ेगा डेथ रेट, जानिए क्या कहती है नई रिपोर्ट

क्या अखबार पढ़ने से हो सकता है कोरोना का संक्रमण? जानिए क्या कहता है WHO

लॉकडाउन: Flipkart यूजर्स के लिए बुरी खबर, कंपनी ने बंद की ये Services

देश में हुए लॉकडाउन के मद्देनजर रेल सेवाएं अब 14 अप्रैल तक रहेंगी बंद

सामने आई Coronavirus की सबसे बड़ी कमजोरी, अब आपके पास नहीं भटकेगा ये वायरस

कोरोना वायरस : जानिए आखिर क्या है 21 दिनों के लॉकडाउन के पीछे का लॉजिक

21 दिनों के लॉकडाउन में घर पर रह कर न हों परेशान, सरकार दे रही है आपको ये सुविधाएं

लॉकडाउन का पहला दिन: Social Distancing के साथ सामान खरीदते हुए दिखे लोग

कोरोना संकट के बीच आज वाराणसी की जनता से मुखातिब होंगे PM मोदी

Corona Virus के दौरान न करे इस दवा का सेवन! हो सकती है मौत

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.