Thursday, Dec 08, 2022
-->
BUDGET 2022: An increase of Rs 11 thousand crore in the education sector

BUDGET 2022 : शिक्षा क्षेत्र में 11 हजार करोड़ रुपए की हुई बढ़ोत्तरी

  • Updated on 2/1/2022

नई दिल्ली/पुष्पेंद्र मिश्र। बजट 2022 में शिक्षा क्षेत्र के लिए कई सौगातें दी गईं। पहली सौगात यह कि शिक्षा बजट को 11 हजार करोड़ (11,053.4) रुपए बढ़ाया गया है। जोकि पूर्व बजट से 12 फीसद अधिक है। 2021 में जहां यह बजट 93224 करोड़ रुपए था(इसमें संशोधित कर 5223 करोड़ रुपए की कटौती कर दी गई थी) वहीं 2022 में शिक्षा बजट को बढ़ाकर 1 लाख 4 हजार 277 करोड़ रुपए कर दिया गया है।

बच्चों से संबंधित योजनाओं पर बजट कटौती पर सत्यार्थी फाउंडेशन ने चिंता जताई

स्कूली शिक्षा के बजट में 9 हजार करोड़ तक की बढोत्तरी की गई 
इस हिसाब से पूरे बजट में इस वर्ष शिक्षा क्षेत्र की रिकॉर्ड हिस्सेदारी है। बीते वर्ष के बजट में स्कूल शिक्षा को 54873 करोड़ रुपए और उच्च शिक्षा के लिए जहां 36031 करोड़ रुपए रखा गया था वहीं साल 2022 में स्कूल शिक्षा के बजट को करीब 9 हजार करोड़ रुपए की बढ़ोत्तरी के साथ 63449 करोड़ रुपए कर दिया गया है।

नर्सरी दाखिला : 8-10 स्कूल ड्रॉ ऑफ लॉट्स के बाद मांग रहे अभिभावकों से फीस

उच्च शिक्षा में भी 6.6 फीसद बजट बढ़ाया गया
वहीं उच्च शिक्षा के बजट में भी 6.6 फीसद की बढ़ोत्तरी करते हुए सरकार ने 40828 करोड़ रुपए आवंटित किए हैं। सरकार ने इस वर्ष सार्वभौमिक शिक्षा के लिए भी बजट में बढ़ोत्तरी की है। समग्र शिक्षा अभियान के लिए जहां बीते वर्ष 30 हजार करोड़ रुपए रखे गए थे वहीं इस वर्ष 37383 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है।

10वीं-12वीं टर्म-1 रिजल्ट तैयार करने की प्रक्रिया में है बोर्ड : परीक्षा नियंत्रक

आईआईटीज, यूजीसी, एआईसीटीई, जेएनयू, केंद्रीय विद्यालयों का बजट भी बढ़ाया
सरकार ने देश की आईआईटीज के लिए फंड को बढ़ाकर 8344 करोड़ से बढ़ाकर 8495 करोड़ कर दिया है। वहीं यूजीसी व एआईसीटीई के लिए 5320.92 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। पिछले वर्ष यह रकम 5139 करोड़ रुपए रखी गई थी। वहीं केंद्रीय विद्यालयों और जवाहर नवोदय विद्यालयों के बजट को भी 4115 करोड़ रुपए से बढ़ाकर 7650 करोड़ रुपए कर दिया गया है।

comments

.
.
.
.
.