Friday, Feb 03, 2023
-->
budget session pm modi said this session is very important for india bright future pragnt

बजट सत्र से पहले बोले PM मोदी- भारत के उज्जवल भविष्य के लिए ये सत्र बेहद महत्वपूर्ण

  • Updated on 1/29/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ दो महीने से भी अधिक समय से प्रदर्शन कर रहे किसान आंदोलन (Farmers Protest) के बीच आज से संसद (Parliament) का बजट सत्र (Budget Session) शुरू हो गया है। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने संसद के बजट सत्र के पहले दिन उम्मीद जताई कि लोकतंत्र की सभी मर्यादाओं का पालन करते हुए सभी सदस्य चर्चा के माध्यम से जनआकांक्षाओं की पूर्ति में योगदान देंगे।

थरूर, राजदीप समेत 8 लोगों के खिलाफ UP पुलिस ने कसा शिकंजा, दंगा भड़काने का आरोप

भारत के उज्जवल भविष्य के लिए सत्र महत्वपूर्ण
उन्होंने कहा कि देश को अपेक्षा है कि इस सत्र में सभी प्रकार के विचारों की प्रस्तुति हो और उत्तम मंथन से उत्तम अमृत निकले। बजट सत्र के पहले दिन संसद भवन परिसर में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि यह इस दशक का पहला सत्र है और यह दशक भारत के उज्जवल भविष्य के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, 'आजादी के दीवानों ने जो सपने देखे थे, उन सपनों को तेज गति से सिद्ध करने का यह स्वर्णिम अवसर अब देश के पास आया है। इस दशक का भरपूर उपयोग हो इसलिए इस सत्र में पूरे दशक को ध्यान में रखते हुए चर्चाएं हों।'

प्रदर्शनकारियों ने लालकिले की प्राचीर से फेंका था तिरंगा , एक पुलिस अधिकार ने ऐसे पकड़ा

लोकतंत्र की सभी मर्यादाओं का होगा पालन 
प्रधानमंत्री ने कहा, 'इस दौरान सभी प्रकार के विचारों की प्रस्तुति हो और उत्तम मंथन से उत्तम अमृत प्राप्त हो, यह देश की अपेक्षाएं हैं।' उन्होंने उम्मीद जताई कि जिस आशा और अपेक्षा के साथ देश की जनता ने अपने प्रतिनिधियों को चुनकर संसद में भेजा है, वे इस पवित्र स्थान का भरपूर उपयोग करते रहेंगे। उन्होंने कहा, 'मुझे पूरा विश्वास है कि लोकतंत्र की सभी मर्यादाओं का पालन करते हुए जन आकांक्षाओं की पूॢत के लिए संसद सदस्य अपने योगदान में पीछे नहीं रहेंगे।' प्रधानमंत्री ने भरोसा जताया कि सभी सदस्य मिलकर इस सत्र को 'और अधिक उत्तम' बनाएंगे।

दिग्विजय सिंह का मोदी सरकार पर हमला, कहा- गोरे चले गए, चेले छोड़ गए

2020 में देने पड़े 4-5 मिनी बजट- PM
उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में यह पहली बार हुआ कि 2020 में वित्त मंत्री को अलग- अलग पैकेज के रूप में एक प्रकार से 4-5 मिनी बजट देने पड़े। उन्होंने कहा, 'यानी 2020 में एक प्रकार से मिनी बजट का सिलसिला चलता रहा। इसलिए यह बजट भी 4-5 मिनी बजट की श्रृंखला में ही देखा जाएगा, यह मुझे पूरा विश्वास है।' ज्ञात हो कि संसद का बजट सत्र आज से शुरू हो रहा है। यह सत्र राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ शुरू होगा। बजट सत्र के पहले दिन आज आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया जाएगा। 

सरकार के खिलाफ अन्ना हजारे करेंगे आंदोलन, 30 जनवरी से बैठेंगे अनशन पर

राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार करने पर केंद्रीय मंत्रियों ने कहा ये
विपक्षी पार्टियों के राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार करने के ऐलान पर केंद्रीय संसदीय कार्य राज्य मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा राष्ट्रपति का अभिभाषण गैर-राजनीतिक होता है इसमें शामिल होना चाहिए। ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि वो इसका बहिष्कार कर रहे हैं। वहीं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि विपक्ष लोकतंत्र की गरिमा को तार-तार कर रहा है। संसदीय व्यवस्था में राष्ट्रपति की एक गरिमा है। राष्ट्रपति के अभिभाषण का बहिष्कार करना यानी राष्ट्रपति का अपमान है।

संसद का बजट सत्र आज से, विपक्षी दलों ने बनाई ये रणनीति, हंगामेदार होने की संभावना

आठ अप्रैल तक चलेगा सत्र, 33 दिन चलेगी कार्यवाही 
बजट सत्र 29 जनवरी से आठ अप्रैल तक चलेगा, जिसमें 33 दिन कार्यवाही चलेगी। पूर्वाह्न 11 बजे राष्ट्रपति कोविंद दोनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित करेंगे। लोकसभा की कार्यवाही राष्ट्रपति के अभिभाषण के समाप्त होने के आधा घंटे बाद थोड़ी देर के लिए होगी जिसमें आर्थिक सर्वेक्षण सदन में पेश किया जाएगा। संसद के बजट सत्र में कुल 12 बैठकें होंगी, जबकि अगला चरण आठ मार्च से शुरू होकर आठ अप्रैल को समाप्त होगा।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.