Monday, Aug 15, 2022
-->
bully bai app case: two accused did not get relief from the mumbai court rkdsnt

बुली बाई ऐप मामला : दो आरोपियों को कोर्ट से नहीं मिली राहत

  • Updated on 1/10/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मुंबई की एक अदालत ने बुली बाई ऐप मामले में उत्तराखंड से गिरफ्तार आरोपियों श्वेता सिंह और मयंक रावल की पुलिस हिरासत की अवधि सोमवार को बढ़ाकर 14 जनवरी तक कर दी। बुली बाई ऐप मामले में मुस्लिम महिलाओं की छेड़छाड़ की गई तस्वीरों को अपलोड कर उन्हें नीलामी के लिए रखा गया था। 

भाजपा शासित मध्यप्रदेश में लंबी मूंछ रखना वाला निलंबित सिपाही हुआ बहाल

 

इसके अलावा अदालत ने मामले में बेंगलुरु से गिरफ्तार एक अन्य आरोपी विशाल कुमार झा के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि होने पर उसे 24 जनवरी तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पुलिस ने सोमवार को श्वेता सिंह (18) और मयंक रावल (21) की पुलिस हिरासत की अवधि बढ़ाने का अनुरोध करते हुए बांद्रा के मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट को बताया कि मामला अभी महत्वपूर्ण चरण में है, इसलिए आरोपियों से पूछताछ आवश्यक है। 

‘सुल्ली डील्स’ ऐप : आरोपी को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, इंदौर पुलिस ने उठाए सवाल

सिंह और रावल को मुंबई पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ ने पांच जनवरी को उत्तराखंड से गिरफ्तार किया था, जबकि झा को चार जनवरी को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया था।  पुलिस ने इससे पहले दावा किया था कि श्वेता सिंह मामले में मुख्य आरोपी है और उसी ने ऐप के लिए ट्विटर हैंडल बनाया था। 

चुनाव वाले राज्यों में BJP विरोधी मतों को एकजुट करना माकपा का मुख्य मकसद : येचुरी 

दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा ने भी इस संबंध में मामला दर्ज कर छह जनवरी को असम से नीरज बिश्नोई को गिरफ्तार किया था। पुलिस के अनुसार, यह ऐप बिश्नोई ने विकसित किया है।

‘BJP एजेंट’ की तरह काम कर रहे अधिकारियों को हटाए चुनाव आयोग : AAP


 

comments

.
.
.
.
.