Wednesday, Dec 08, 2021
-->
burn-unit-not-started-in-district-hospital-locked

जिला अस्पताल में नहीं शुरू हुआ बर्न यूनिट, लगा ताला 

  • Updated on 10/27/2021

नई दिल्ली/टीम डिजीटल। जिला एमएमजी अस्पताल में सरकारी स्तर पर तैयार बर्न यूनिट पर ताला जड़ा है। यह स्थिति तब है जब दीपावली भी नजदीक है। ऐसे में हर साल की तरह इस बार भी इसे शुरू कर पाना मुश्किल लगा रहा है। बर्न यूनिट शुरू नहीं होने के चलते मरीजों को हायर सेंटर रेफर किया जाएगा। आग से झूलसे मरीजों को तुरंत उपचार के लिए सरकारी स्तर पर जिला एमएमजी अस्पताल में इमरजेंसी के पीछे बर्न यूनिट को कई वर्षों पूर्व तैयार किया गया था।

लेकिन इसे आज तक शुरू नहीं किया जा सका है। बर्न यूनिट तैयार करने के बाद यहां प्लास्टिक सर्जन से लेकर अन्य स्टाफ की तैनाती नहीं की गई। अब जबकि दीपावली का त्यौहार भी नजदीक है, इसे शुरू करने को लेकर भी कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। यदि किसी कारणवश दीपावली के दौरान कोई झुलसा मरीज अस्पताल की इमरजेंसी में पहुंचता है, तब उसे दिल्ली रेफर किया जाएगा। हालांकि बर्न यूनिट को दीपावली के नजदीक ही नहीं, इसे मरीजों के उपचार के लिए वर्षों पूर्व ही शुरू किया जाना चाहिए। जिससे मरीजों को प्रतिदिन इसका लाभ मिल सकें। यदि इसकी शुरूआत हो जाती तब 11 मार्च 2021 को साइट-4 में फैक्ट्री में एक हादसे में झूलसे लोगों को अन्य अस्पतालों में रेफर नहीं करना पड़ता। 

22 लाख की लागत से तैयार हुई थी बर्न यूनिट 
जिला एमएमजी अस्पताल में वर्ष 2007 में 22 लाख रूपए की लागत से बर्न यूनिट तैयार की गई थी। झुलसे मरीजों को भर्ती करने के लिए बेड, एयर कंडीशन के साथ इसे शुरू भी किया गया था। सूत्रों की मानें तो शुरुआत में यहां एक नर्स और एक वॉर्ड बॉय की तैनाती की गई, जबकि एक सर्जन, एक प्लास्टिक सर्जन, तीन नर्स, दो वॉर्ड बॉय की जरूरत थी। स्टाफ की कमी के चलते इसे बंद कर दिया गया। आज भी यहां ताला जड़ा है। जबकि हर माह 10 से 15 झुलसे केस आते है। स्टाफ की कमी के चलते उन्हें दिल्ली रेफर किया जाता है। 

स्टाफ मौजूद अभी डेंगू मरीजों के इलाज में जुटा 
वही, एमएमजी अस्पताल के सीएमएस डॉ. अनुराग भार्गव का कहना है कि 8 बेड वाला बर्न यूनिट तैयार है। डॉक्टर व स्टाफ भी मौजूद है। अभी सर्जन डॉक्टर व अन्य स्टाफ डेंगू मरीजों की देखभाल में लगा है। यदि इमरजेंसी में कोई मरीज आता है, तब उसे तुरंत उपचार दिलाया जाएगा। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.