Monday, Jan 24, 2022
-->
caa nrc nitish kumar amit shah  narenda modi amit shah  rjd tejashwi yadav

नीतीश ने की NDA से बगावत, बोले - नहीं करेंगे बिहार में NRC को लागू

  • Updated on 12/20/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish kumar) ने देशभर में NRC और CAA के खिलाफ बढ़ते विरोध प्रर्दशनों के बीच कहा है कि वह बिहार में NRC को लागू नहीं करेंगे। उनके अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) समेत तमाम अन्य विपक्षी दल की सरकारों ने भी इस बिल को अपने राज्यों में लागू नहीं करने की बात कही है। इससे पहले जदयू के नेता प्रशांत किशोर (Prashant kishore) ने भी बिहार में NRC और CAA का विरोध किया था।

क्या है CAA-NRC में अंतर, जानें इनमें क्या है प्रावधान

 
स्वरा भास्कर ने कन्हैया कुमार की तर्ज पर मुंबई में लगाए आजादी के नारे

पार्टी ने संसद में किया था समर्थन
गौरतलब हो कि नीतीश कुमार की पार्टी जदयू (JDU) ने CAA बिल को संसद में अपना समर्थन दिया था। लेकिन  फिल्हाल नीतीश की पार्टी एनआरसी के खिलाफ खड़े होकर अपना विरोध जता रही है। नीतीश के जिस तरह के तेवर दिखाएं हैं उन्हें देखकर लगता है कि अब वह बीजेपी से बगावत करने वाले हैं।  
CAA पर इशारे-इशारे में बोले PM मोदी- देश हित में झेलना पड़ता है लोगों का गुस्सा

संविधान के खिलाफ है बिल
नीतीश के अलवा इस मुद्दे पर विपक्षी पार्टियों (Opposition parties) के शासन वाले देशों ने भी अपना विरोध दर्ज कराया है। उनका कहना है कि यह बिल देश के संविधान (Constitution) के खिलाफ है साथ ही साथ एक विशेष समुदाय के साथ धर्म के आधार पर विरोध करता है। विरोध करने वाले में कांग्रेस शासित राज्यों के साथ पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.