Friday, Aug 07, 2020

Live Updates: Unlock 3- Day 6

Last Updated: Thu Aug 06 2020 09:55 PM

corona virus

Total Cases

2,021,407

Recovered

1,374,420

Deaths

41,627

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA479,779
  • TAMIL NADU279,144
  • ANDHRA PRADESH196,789
  • KARNATAKA158,254
  • NEW DELHI141,531
  • UTTAR PRADESH108,974
  • WEST BENGAL86,754
  • TELANGANA73,050
  • BIHAR68,148
  • GUJARAT67,811
  • ASSAM50,446
  • RAJASTHAN48,384
  • ODISHA40,717
  • HARYANA37,796
  • MADHYA PRADESH35,082
  • KERALA27,956
  • JAMMU & KASHMIR22,396
  • PUNJAB18,527
  • JHARKHAND14,070
  • CHHATTISGARH10,202
  • UTTARAKHAND7,800
  • GOA7,075
  • TRIPURA5,643
  • PUDUCHERRY3,982
  • MANIPUR3,018
  • HIMACHAL PRADESH2,879
  • NAGALAND2,405
  • ARUNACHAL PRADESH1,790
  • LADAKH1,534
  • DADRA AND NAGAR HAVELI1,327
  • CHANDIGARH1,206
  • MEGHALAYA937
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS928
  • DAMAN AND DIU694
  • SIKKIM688
  • MIZORAM505
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
caa protestor give 23 lakh to state government

CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे 53 उपद्रवियों से UP सरकार वसूलेगी 23 लाख का हर्जाना

  • Updated on 2/13/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने वालों से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अब कानून वसूली की जाएगी, एक खबर के मुताबिक यूपी के मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में सरकारी संपत्ती को नुकसान पहुंचाने वालों से हर्जाना वसूला जाएगा। करीब दो महीने पहले यूपी की योगी आदित्‍यनाथ सरकार ने ऐलान किया था कि प्रदर्शन के दौरान हुए नुकसान की भरपाई उपद्रव करने वाले लोगों से ही करेगी। जिसके बाद योगी सरकार ने इस कानून को लेकर रफ्तार पकड़ ली है।

राष्ट्र निर्माण अभियान के तहत 24 घंटे में AAP से जुड़े 11 लाख लोग

53 लोग मिलकर करेंगे भरपाई
हाल ही में जिला प्रशासन ने 57 लोगों को नोटिस जारी किया था और जवाब मांगते हुए 20 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन के लिए हर्जाना वसूलने पर बात कही हैं। जारी सीसीटीवी फुटेज, फोटो और विडियो के आधार पर स्‍थानीय पुलिस ने अपनी रिपोर्ट तैयार कि है।पुलिस के मुताबिक जिन 57 लोगों को नोटिस भेजा गया  था, उनमें से 53 लोगों ने अपना जवाब दाखिल किया गया है। उनका कहना है कि वे इस हिंसा में शामिल नहीं थे। तीन लोगों ने अपना जवाब नहीं दिया। इसके बाद अब जिला प्रशासन ने 53 लोगों से 23.41 लाख रुपये की वसूली के लिए प्रक्रिया तेज कर दी है। इस धन को 53 लोगों को सामूहिक रूप से जमा करना होगा। 

MP: शिवाजी की मूर्ति हटाने पर BJP का Cong पर हमला, कहा- नेहरू-इंदिरा की मूर्ति हटाते

4 लोगों को मिली राहत
जांच में पूछताछ के दौरान पैनल ने चार लोगों के खिलाफ नोटिस वापस ले लिया गया हैं, इनमें से एक नाबालिग भी था। पैनल ने 53 लोगों की ओर से दायर आपत्तियों को खारिज कर दिया और उन्हें सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के लिए जिम्मेदार ठहराया। यह पता चला है कि मुजफ्फरनगर में विरोध-प्रदर्शन के दौरान हिंसा के लिए 51 से अधिक मामले दर्ज किए गए और 81 लोगों को गिरफ्तार किया गया। मामलों की जांच के लिए एक एसआईटी (SIT) का भी गठन किया गया है।

comments

.
.
.
.
.