Monday, Jan 27, 2020
case filed against mp bhagwant mann and others for attacking police during demonstrations

सांसद भगवंत मान सहित अन्य पर प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर हमला करने के आरोप में मामला दर्ज

  • Updated on 1/12/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पंजाब (Punjab) में बिजली विभाग (Bijli Vibhag) द्वारा बढ़े रेट का विरोध-प्रदर्शन लगातार जारी है। इस दौरान प्रदर्शन कर रहे आम आदमी पार्टी (Aap Party) के सांसद भगवंत मान (Bhagwant Mann), 8 विधायकों और 800 कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। इस दौरान  पुलिस ने महिला कांस्टेबल मनप्रीत कौर के बयानों के आधार पर डी.सी के आदेशों का उल्लंघन करने व ड्यूटी में बाधा पहुंचाने और मारपीट की धाराएं लगाई हैं। 

पंजाब मंत्रिमंडल ने लिया निर्णय, 126वें संवैधानिक संशोधन की पुष्टि के लिए जनवरी में होगा विशेष सत्र 

पुलिसर्किमयों पर की गई पत्थरबाजी
पुलिस अधिकारी ने रविवार को बताया कि मामलें में करीब 800 'आप' समर्थकों को भी आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने बताया कि एक महिला आरक्षी के बयान के आधार पर शनिवार को संगरूर के सांसद और सात विधायकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई। महिला आरक्षी ने शिकायत की है कि 'आप' कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को उनपर और अन्य पुलिसर्किमयों पर पत्थरबाजी की। सेक्टर तीन थाने के प्रभारी निरीक्षक जसपाल सिंह ने बताया कि मान और अन्य के खिलाफ दंगा फैलाने, जनसेवकों के काम में बाधा उत्पन्न करने एवं उन्हें नुकसान पहुंचाने, लोकसेवकों की आदेशों की अवहेलना करने सहित भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

बलात्कार के मामलों को लेकर पंजाब सरकार हुई सख्त, फास्ट-ट्रैक अदालतों के गठन को दी मंजूरी

प्रदर्शनकारियों ने किया धारा-144 का उल्लंघन
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि प्रदर्शनकारियों ने कानून व्यवस्था की समस्या पैदा की और जिलाधिकारी की ओर इलाके में लागू निषेधाज्ञा (धारा 144) का उल्लंघन किया। उल्लेखनीय है कि पंजाब में बिजली की दरों में वृद्धि के खिलाफ शुक्रवार को मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के आवास की ओर मार्च करने की कोशिश कर रहे आम 'आप' नेताओं और कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस ने पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया था। विधानसभा में मुख्य विपक्षी 'आप' पूर्ववर्ती शिरोमणि अकाली दल (शिअद)- भारतीय जनता पार्टी (BJP) गठबंधन सरकार द्वारा किए गए विद्युत क्रय समझौते को भी रद्द करने की मांग की है।

प. बंगाल की CM भारत बंद के खिलाफः कहा- इनका कोई राजनीतिक आधार नहीं

पत्थबाजी में घायल हुए छह पुलिसकर्मी 
पुलिस ने बताया कि प्रदर्शन के दौरान अज्ञात आप कार्यकर्ताओं की ओर से की गई पत्थबाजी में कम से कम छह पुलिस कर्मी घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री आवास की ओर मार्च कर रहे 'आप' पदाधिकारियों को हिरासत में लिया गया था जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया। इस बीच, पंजाब विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और राज्य में 'आप' के वरिष्ठ नेता हरपाल सिंह चीमा ने प्राथमिकी दर्ज करने पर चंडीगढ़ पुलिस की आलोचना की है। उन्होंने 'आप' कार्यकर्ताओं द्वारा पुलिस पर हमले के आरोपों को खारिज किया है।

बिजली की दरों में बढ़ोत्तरी का था मामला
चीमा ने कहा, 'हम पंजाब के लोगों की आवाज उठाना जारी रखेंगे। हम जेल जाने से नहीं डरते। विपक्ष में रहने के नाते लोगों की आवाज उठाने की हमारी जिम्मेदारी है।' प्रदर्शन के बाद पार्टी ने बयान जारी कर दावा किया था कि विधायक अमन अरोड़ा सहित उनके करीब दो दर्जन कार्यकर्ता घायल हुए हैं और उनमें से दो को स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान चंडीगढ़ में भर्ती कराना पड़ा है। 'आप' के प्रदर्शन का नेतृत्व मान कर रहे थे। पार्टी विधायक हरपाल सिंह चीमा, कुलतार सिंह संधवन, मंजीत सिंह बिलासपुर, बलदेव सिंह, मीत हयर, बलजिंदर कौर और अन्य नेता शामिल थे। उल्लेखनीय है कि पंजाब ने घरेलू उपभोक्ताओं के लिए बिजली की दरों में एक जनवरी से 36 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी की है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.