Wednesday, Feb 19, 2020
cbdt asked all income tax authorities to settle complaints before narendra modi review

PM मोदी की समीक्षा से पहले CBDT में हड़कंप, अधिकारियों को दिए खास निर्देश

  • Updated on 1/2/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटिल। केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने सभी आयकर अधिकारियों से एक माह से ज्यादा लंबित शिकायतों का तेजी से निपटान करने को कहा है। सीबीडीटी का यह निर्देश ऐसे समय आया है जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ जनवरी को केन्द्रीकृत लोक शिकायत निपटान एवं निगरानी प्रणाली (सीपीजीआरएएमएस) की समीक्षा करने जा रहे हैं। 

#CAA Protest : वाराणसी में मासूम बच्ची चंपक की मां 14 दिन बाद जेल से रिहा

प्रधानमंत्री द्वारा शिकायतों की स्थिति की मासिक समीक्षा प्रगति मंच के तहत की जाती है। सीबीडीटी ने कर विभाग के फील्ड प्रमुखों को भेजे पत्र में कहा है, ‘‘आप सभी से लंबित शिकायतों का तेजी से निपटान करने का अनुरोध किया जाता है। आप यह सुनिश्चित करें कि आपके क्षेत्र या प्रभार में 90 दिन से अधिक कोई शिकायत लंबित नहीं रहे’’ 

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलपति ने दिया गंभीर आरोपों को लेकर इस्तीफा

इसमें कहा गया है कि 30 दिन से लेकर 90 दिन तक की लंबित शिकायतों का भी तेजी से निपटान किया जाए, जिससे लंबित शिकायतों को न्यूनतम स्तर तक लाया जा सके। सीबीडीटी ने कहा है कि लंबित शिकायतों के निपटान के बाद सीपीजीआरएएमएस पोर्टल पर उसे तेजी से ‘अद्यतन’ भी किया जाना चाहिये। 

मोदी सरकार की जरूरी आर्थिक सुधारों में जरा भी रुचि नहीं : अर्थशास्त्री स्टीव

सीपीजीआरएएमएस एक आनलाइन प्रणाली है जो केंद्र सरकार के किसी विभाग या मंत्रालय से संबंधित शिकायतों को प्राप्त करती है और उनका समाधान करती है।  आयकर विभाग को कर रिफंड, पैन आवंटन, आईटीआर और विभिन्न अन्य मुद्दों से संबंधित काफी शिकायतें मिलती हैं। सीबीडीटी आयकर विभाग के लिए नीतियां बनाने का काम करता है।

प्राइवेट सेक्टर के सहारे #AdoptAHeritage Project का दायरा बढ़ाने में जुटी मोदी सरकार

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.