Saturday, Apr 17, 2021
-->
cbse-board-exam-2021-10th-12th-grade-practical-examinations-from-march-1st-kmbsnt

CBSE Board Exam 2021: 10वीं-12वीं कक्षा की प्रैक्टिकल परीक्षाएं 1 मार्च से 

  • Updated on 2/26/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की प्रायोगिक परीक्षाएं एक मार्च से शुरू होने जा रही हैं। जोकि 11 जून तक जारी रहेंगी। पिछले वर्ष बोर्ड ने 1 जनवरी से 7 फरवरी तक ये प्रायोगिक परीक्षाएं आयोजित कराई थीं। लेकिन इस बार कोरोना महामारी के कारण प्रायोगिक पीरक्षाओं के आयोजन में देरी हुई है। बोर्ड ने स्कूलों के लिए जारी किए दिशा-निर्देश में कहा है कि प्रायोगिक परीक्षाएं बोर्ड की ओर से नियुक्त एक बाहरी व एक आंतरिक एक्सटर्नल की निगरानी में स्कूलों को आयोजित करनी होंगी।

स्कूलों को एक मार्च से 11 जून के बीच ही स्कूलों को छात्रों के एसेसमेंट और इंटरनल एसेसमेंट का मूल्यांकन करना होगा। मूल्यांकन के तुरंत बाद स्कूलों को अंक दिए गए लिंक पर अपलोड करने होंगे। एक बार अंक अपलोड हो जाने के बाद उनमें कोई करेक्शन नहीं किया जा सकेगा इसलिए स्कूलों को पहले से ही जांच करके ही अंक अपलोड की प्रक्रिया पूरी की जाए।

अगर प्रायोगिक परीक्षा स्कूल में बोर्ड द्वारा उपलब्ध कराए गए शिक्षक के अलावा किसी और शिक्षक के निर्देशन में होगी तो स्कूल की प्रायोगिक परीक्षा रद्द कर दी जाएगी और छात्रों को समानुपातिक रूप से अंक देकर व थ्यौरी के अंकों के आधार पर रिजल्ट दिया जाएगा। बोर्ड द्वारा प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए जारी किए गए दिशा निर्देशों की अवहेलना करने पर स्कूल पर 50 हजार रूपए का जुर्माना लगाया जाएगा। 

CBSE बोर्ड परीक्षा में आवेदन के लिए प्राइवेट परीक्षार्थियों को मिला अंतिम अवसर

वाइवा में छात्र और एग्जामिनर को एक दिशा में रखना होगा चेहरा 
10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा से पहले आयोजित की जा रही प्रायोगिक परीक्षा में छात्र और एग्जामिनर को एक ही दिशा में अपना चेहरा करके सवाल जवाब करने होंगे। कोविड-19 के कारण बरती जा रही सावधानियों के कारण यह नियम बनाया गया है। अगर किसी छात्र का स्वास्थ्य प्रायोगिक परीक्षा के समय बेहतर नहीं है तो उसका अलहदा एग्जाम कराया जाए। 
प्रायोगिक परीक्षा की फोटो बोर्ड को भेजनी होगी 

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए शेयर होगी ग्रुप फोटो
प्रायोगिक परीक्षा के दौरान सामाजिक दूरी का पालन करते हुए पूरे बैच की एक ग्रुप फोटो स्कूल अपलोड करेंगे। ग्रुप फोटो में छात्र, एक्सटर्नल एग्जामिनर, इंटरनल एग्जामिनर और ऑब्जर्बर सभी का चेहरा साफ दिखना चाहिए। प्रायोगिक परीक्षा के दौरान लैब में लिए गए फोटो में लैब भी स्पष्ट रूप से पहचान में आनी चाहिए। बोर्ड को भेजे गए अंकों के साथ बैच नंबर, टोटल बैच, तिथि व प्रायोगिक परीक्षा का समय भी स्कूलों को भेजना होगा। 

CBSE मान्यता प्राप्त स्कूलों में मार्च तक पूरी होंगी 9वीं-11वीं की परीक्षाएं

हर बैच के प्रैक्टिकल एग्जाम के बाद सैनिटाइज होगी लैब 
हर बैच की प्रायोगिक परीक्षा के बाद स्कूलों को 1 फीसद सोडियम हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन के साथ लैब को सैनिटाइज कराना होगा। हाथ साफ करने के लिए भी लैब में सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी। लैब में रखे डस्टबिन को नियमित अंतराल पर खाली कराना होगा। 25 छात्रों के एक समूह को दो ग्रुपों में विभाजित कर प्रायोगिक परीक्षा ली जाएगी।

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.