Tuesday, Apr 13, 2021
-->
cbse-board-exam-corona-infected-students-another-opportunity-in-practical-kmbsnt

CBSE Board Exam: कोरोना संक्रमित छात्रों को प्रैक्टिकल परीक्षा में एक और अवसर

  • Updated on 4/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने घोषणा की है कि कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण प्रायोगिक परीक्षाओं में शामिल नहीं हो सकने वाले 10वीं और 12वीं कक्षा के छात्रों को 11 जून से पहले एक और मौका मिलेगा। सीबीएसई ने स्कूलों को कोविड-19 से संक्रमित परीक्षाॢथयों के लिए उपयुक्त समय पर प्रायोगिक परीक्षाएं फिर से आयोजित करने के लिए कहा है।

सीबीएसई के परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने बोर्ड से मान्यता प्राप्त स्कूलों के प्रिंसिपलों के लिए जारी निर्देश में कहा कि अगर कोई अभ्यर्थी कोविड से संक्रमित होने के कारण या परिवार के किसी सदस्य के संक्रमित होने की वजह से प्रायोगिक परीक्षा में अनुपस्थित रहता है, तो स्कूल 11 जून तक क्षेत्रीय प्राधिकरण के परामर्श से उचित समय पर ऐसे अभ्यर्थियों के लिए प्रायोगिक परीक्षा आयोजित करेगा। इनके माक्र्स अपलोड करते समय स्कूल उसके सामने ‘सी’ लिखेंगे।

केजरीवाल ने बढ़ते Corona केस पर जताई चिंता,कहा- Lockdown समाधान नहीं,जागरुकता जरुरी

कोविड-19 के कारण बदलता है एग्जाम सेंटर तो मिलेगी ये सहूलियत
अगर किसी परीक्षार्थी का एग्जाम सेंटर कोविड-19 के कारण बदलता है तो उसके प्रैक्टिकल मार्क्स अपलोड करते समय ‘टी’ लिखा जाएगा। ऐसे छात्रों का दोबारा प्रेक्टिकल एग्जाम आयोजित करने की स्थिति में माक्र्स संबंधित क्षेत्रीय दफ्तर में मैनुअली अवार्ड लिस्ट के जरिए भेजे जाएंगे। अगर किसी अभ्यर्थी के माक्र्स अपलोड नहीं किए गए तो उसका रिजल्ट बिना पे्रक्टिकल अंकों के ही बोर्ड द्वारा बनाए गए कानूनों के अनुसार जारी कर दिया जाएगा। बता दें, दोनों कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाएं 4 मई से शुरू होंगी। वहीं इन कक्षाओं की प्रायोगिक परीक्षाएं जारी हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे 2020 के मैसेज पर स्थिति स्पष्ट की
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक मैसेज में कहा जा रहा है कि सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाओं के शेड्यूल में कोरोना के चलते बदलाव किया गया है। तथा केवल महत्वपूर्ण विषयों के ही पेपर इस वर्ष आयोजित किए जाएंगे। सीबीएसई ने शुक्रवार को यह स्पष्ट करते हुए कहा है कि यह जानकारियां भ्रामक हैं। क्योंकि यह मैसेज पिछले वर्ष के हैं। जिसमें केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल के ट्वीट की भी तस्वीरें शामिल हैं। जहां स्पष्ट रूप से अप्रैल 2020 की तारीख देखी जा सकती है।

बढ़ते कोरोना के बीच दिल्ली में हुआ रिकॉर्ड टीकाकरण, अब सप्ताह के सातों दिन लगेगी वैक्सीन

न विषय कम होगा न ही टलेगी परीक्षा- CBSE
बोर्ड ने इन भ्रामक खबरों का स्वत: संज्ञान लेते हुए छात्रों को सुझाव दिया है कि वे भ्रमित न हों। क्योंकि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे ट्वीट और सर्कुलर दोनों अप्रैल 2020 के हैं। जिनमें कोविड-19 के कारण देश में लगे लॉकडाउन के बाद बोर्ड और शिक्षा मंत्रालय ने परीक्षाओं पर अपनी स्थिति स्पष्ट की थी। इस वर्ष न तो किसी विषय की गिनती कम हो रही है न ही परीक्षाओं को टाला जा रहा है। इसलिए 4 मई से आयोजित होने जा रही सीबीएसई 10वीं-12वीं की परीक्षा के लिए छात्र खुद को तैयार रखें।

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.