Monday, Aug 02, 2021
-->
cbse board present evaluation criteria of 12th in supreme court today kmbsnt

CBSE Board ने सुप्रीम कोर्ट में बताया 12वीं का Evaluation Criteria, ऐसे मिलेंगे नंबर

  • Updated on 6/17/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड 12वीं के छात्रों के लिए तय किए गए मूल्यांकन मानदंडों को आज सुप्रीम कोर्ट में पेश कर दिया है। सीबीएसई ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि बारहवीं कक्षा के परिणाम कक्षा 10 (30% वेटेज), कक्षा 11 (30% वेटेज) और कक्षा 12 (40% वेटेज) में प्रदर्शन के आधार पर तय किए जाएंगे।

अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल का कहना है कि परिणाम की घोषणा 31 जुलाई 2021 तक की जाएगी। एजी ने यह भी कहा कि जो छात्र वर्तमान मूल्याकंन नीति के माध्यम से अंक / ग्रेडिंग से संतुष्ट नहीं हैं, वो कोरोना की स्थिति सामान्य होने पर  परीक्षाओं में शामिल होकर अपने अंक बेहतर कर सकते हैं या अपने अंकों में सुधार कर सकते हैं। 

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने एडवोकेट ममता शर्मा की याचिका पर सुनवाई करते हुए सीबीएसई और सीआईएससीई बोर्ड को कोरोना के कारण बारहवीं बोर्ड परीक्षा रद्द होने के बाद इन छात्रों के मूल्यांकन के लिए अपने अंतिम मूल्यांकन नीति पेश करने के लिए 2 हफ्ते का समय दिया था।

12वीं के 12 लाख छात्रों के लिए मूल्यांकन मानदंड पर सुझाव देने के लिए सीबीएसई 4 जून को एक 13 सदस्य समिति का गठन किया था। जिसने अब तक अपनी रिपोर्ट पेश नहीं की है। माना जा रहा है कि आज कोर्ट में बोर्ड अपने सुझाव पेश कर सकता है।

12वीं का रिजल्ट तैयार करने के लिए मनीष सिसोदिया के केंद्रीय शिक्षा मंत्री को सुझाव

दसवीं कक्षा के अंकों के वेटेज से 12वीं का मूल्यांकन
बोर्ड की एक गवर्निंग बॉडी मेंबर की माने तो बोर्ड ने पूरे देश के संबंधित हित धारकों से दसवीं कक्षा के अंकों का वेटेज देने के बारे में राय मांगी थी, जिसमें दसवीं के बेस्ट तीन या चार विषयों के प्रदर्शन को 12वीं रिजल्ट के लिए एक वेटेज के तौर पर लिया जा सकता है।

मूल्यांकन के लिए 30-30-40 का फार्मूला
वहीं स्कूल प्रिंसिपल्स की मानें तो बोर्ड की समिति ने 30-30-40 का फार्मूला अपनाने को कहा है। इस फॉर्मूले के मुताबिक दसवीं के रिजल्ट का 30 फीसदी वेटेज ग्यारहवीं के रिजल्ट का 30 फीसदी वेटेज और बारहवीं कक्षा के प्री बोर्ड रिजल्ट का 40 फीसदी वेटेज के आधार पर अंतिम नतीजा तैयार किया जा सकता है।

Good News: दिल्ली में 20 हजार गेस्ट टीचर्स की बहाली के लिए निदेशालय ने जारी किया आदेश

मोबाइल पर प्रश्न भेजकर उनका आंकलन 
हालांकि इस फार्मूले में इंटरनल प्रदर्शन को कोई तवज्जो नहीं दी गई है। कुछ प्रिंसिपल्स का मानना है कि 11वीं के रिजल्ट का 12वीं बोर्ड नतीजों के लिए वेटेज लेना गलत है क्योंकि ग्याहरवी में हर छात्र पूरे मन से पढ़ाई नहीं करता। वहीं कुछ अन्य प्रिंसिपल इस फार्मूले के बजाय छात्रों को परीक्षा के लिए मोबाइल पर प्रश्न भेज कर उनका आंकलन करने को कह रहे हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.