Friday, Jul 10, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 10

Last Updated: Fri Jul 10 2020 09:39 PM

corona virus

Total Cases

818,647

Recovered

513,503

Deaths

22,122

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA238,461
  • TAMIL NADU114,978
  • NEW DELHI109,140
  • GUJARAT40,155
  • UTTAR PRADESH33,700
  • TELANGANA25,733
  • ANDHRA PRADESH25,422
  • KARNATAKA25,317
  • RAJASTHAN23,814
  • WEST BENGAL22,987
  • HARYANA19,736
  • MADHYA PRADESH15,284
  • BIHAR14,330
  • ASSAM11,737
  • ODISHA10,624
  • JAMMU & KASHMIR8,675
  • PUNJAB6,491
  • KERALA5,623
  • CHHATTISGARH3,305
  • UTTARAKHAND3,161
  • JHARKHAND2,854
  • GOA1,813
  • TRIPURA1,580
  • MANIPUR1,390
  • HIMACHAL PRADESH1,077
  • PUDUCHERRY1,011
  • LADAKH1,005
  • NAGALAND625
  • CHANDIGARH490
  • DADRA AND NAGAR HAVELI373
  • ARUNACHAL PRADESH270
  • DAMAN AND DIU207
  • MIZORAM197
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS141
  • SIKKIM125
  • MEGHALAYA88
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
cbse initiative to introduce artificial intelligence from class viii

CBSE अब Artificial Intelligence विषय को करने जा रहा है शुरू

  • Updated on 9/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड :सीबीएसई: ने बोर्ड से संबद्ध स्कूलों में आठवीं कक्षा से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस’’ विषय को प्रेरक पहल के तहत शुरू करने का फैसला किया है। सीबीएसई ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का पाठ्यक्रम भी तैयार कराया है। 

किताबों के शौकीन लोगों के लिए दिल्ली में हुआ बुक फेयर मेले का आयोजन

इसे ‘इंटेल’ (Intel) की मदद से तैयार किया है। सीबीएसई की अध्यक्ष अनिता करवाल ने कहा कि हमने शैक्षणिक सत्र 2019.. 20 से 9वीं कक्षा से वैकल्पिक विषय के रूप में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को शुरू किया है। उन्होंने बताया, कि ‘‘ इसके साथ ही आठवीं कक्षा में हम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस विषय को पेश करने जा रहे हैं ।’’

करवाल ने बताया कि अब तक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का कहीं भी सुव्यवस्थित पाठ्यक्रम नहीं बना। शायद सीबीएसई दुनिया में पहला बोर्ड होगा जिसने आर्टिफिशियल शियल इंटेलिजेंस पर पाठ्यक्रम तैयार किया है।

CSIR यूजीसी नेट परीक्षा के लिए 9 अक्तूबर तक करें आवेदन

सीबीएसई की अध्यक्ष ने बताया, ‘‘ इस पाठ्यक्रम को इंटेल :चिप बनाने वाली कंपनी: की मदद से तैयार किया गया है । ’’ बोर्ड ने कहा है कि स्कूल आॢटफिशियल इंटेलिजेंस विषय पर प्रेरक पहल के तहत आठवीं कक्षा से पढ़ाई शुरू कर सकते हैं । यह प्रारंभ में 12 घंटे की अवधि का होगा।

अधिकारियों ने बताया कि इस कोर्स के लिये प्रशिक्षण कार्य भी शुरू किया जायेगा। वहीं, नौवीं कक्षा के लिये आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का पाठ्यक्रम 112 घंटे का है और इसे 168 कक्षाओं में बांटा गया है । इसमें आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का परिचय 12 घंटे का है।

DUSU चुनाव: अलका लांबा ने बढ़ाया NSUI का हौसला, वोट करने वाले छात्रों को दी ये हिदायत...

एआई प्रोजेक्ट चक्र 26 घंटे, न्यूरल नेटवर्क 4 घंटे तथा पाइथन का परिचय विषय 70 घंटे का है। करवाल ने बताया कि बोर्ड ने इसके साथ ही 5-6 स्कूलों को मिलाकर क्लस्टर तैयार करने की पहल की है जिसके जरिये वे आपस में एक दूसरे की अच्छी चीजों को साझा कर सकते हैं और एक दूसरे से सीख सकते हें।

सीबीएसई की अध्यक्ष ने बताया कि बोर्ड ने शिक्षा को बेहतर, सहज एवं सुलभ बनाने के लिये 10 मार्गर्दिशका तैयार की है। इसमें एक प्रमुख मार्गर्दिशका स्कूल गुणवत्त्ता मैनुअल शामिल है। इसमें कई मापदंड निर्धारित किये गए हैं जिसके आधार पर स्कूल अपना मूल्यांकन कर सकते हैं।  

comments

.
.
.
.
.