Saturday, Apr 20, 2019

Exam में की नकल तो निष्कासन के बजाय मिलेगी ये सजा, CBSE ने उठाया ये सख्त कदम

  • Updated on 3/30/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सीबीएसई ने बीते सालों से लगातार छात्रों में परीक्षा के दौरान आ रहीं हीन भावना के मामलों को देखते हुए 10वीं और 12वीं बोर्ड परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों को निष्कासित नहीं करने का निर्देश दिया है। बोर्ड के निर्देश के बाद सभी केंद्रों पर इसका ख्याल रखा जा रहा है।

परीक्षा के दौरान नकल करते छात्र पकड़े तो जा रहे हैं, लेकिन उन्हें निष्कासित नहीं किया जा रहा है। नकल के बाद परीक्षाॢथयों को दोबारा परीक्षा दिलवायी जा रही है। उनकी नकल के साथ पकड़ी गई कॉपी और दोबारा परीक्षा दिलाए जाने पर दी गई कॉपी को एक लिफाफे में सीलबंद कर बोर्ड को भेजा जा रहा है।

भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर का आज दिल्ली में हल्ला बोल, हुंकार रैली में होंगे शामिल

ज्ञात हो कि बोर्ड ने पहली बार यह नियम बनाया है। इससे पहले 2018 तक निष्कासित छात्रों को परीक्षा नहीं देने दिया जाता था। इतना ही नहीं सीबीएसई ने जो छात्र नकल करते पकड़े गए हैं उनकी कॉपी की जांच के लिए एक जांच कमेटी बनायी है।यह कमेटी दोनों कॉपियों को देखेगी। इसकी पूरी जांच के बाद निर्णय लिये जाएंगे कि छात्र को रिजल्ट दिया जाएगा कि नहीं।

चंद्रशेखर को लेकर महागठबंधन और कांग्रेस में तनातनी, जानें क्या है आजाद की रणनीति

दिल्ली के परीक्षा केंद्रों पर अब तक 20 से अधिक छात्रों को नकल के साथ पकड़ा जा चुका है। बोर्ड की मानें तो साल 2018 में 477 परीक्षार्थी नकल के कारण परीक्षा से निष्कासित हुए थे। निष्कासित होने के बाद छात्रों में डिप्रेशन आ जाता है। नकल रोकने का मकसद छात्रों को कदाचार की आदत छुड़ाना है। लेकिन इसका बुरा असर छात्रों पर होता है।

SP-BSP गठबंधन और कांग्रेस ने बढ़ाई मुश्किलें, इन सीटों पर नहीं लहराएगा BJP का परचम!

इस कारण छात्रों को निष्कासन नहीं करने बल्कि दोबारा परीक्षा में शामिल होने का मौका दिया जा रहा है। इस मसले पर सीबीएसई बोर्ड परीक्षा नियंत्रक संयम भारद्वाज ने कहा कि निष्कासन के बाद बच्चों के अंदर हीन भावना आ जाती है। इस कारण इस बार अगर किसी छात्र के पास चिट-पुर्जे मिलते हैं तो वो लेने के बाद दूसरी कॉपी पर उसकी परीक्षा ली जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.